June 18, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

सैयद अली शाह गिलानी का हुर्रियत कॉन्फ्रेंस से इस्तीफा, 90 के दशक से अलगाववादी आंदोलन का नेतृत्व किया

Syed Ali Shah Resigned hurriyat conference kashmir, वृतांत - Vritaant

श्रीनगर। आतंकियों की मौत पर हमेशा कश्मीर घाटी बंद करने का ऐलान करने वाले कट्टरपंथी व अलगाववादी नेता सईद अली शाह गिलानी ने सोमवार को आल पार्टी हुर्रियत कांफ्रेंस से खुद को अलग कर लिया। इसकी घोषणा गिलानी ने सोमवार को एक आडियो संदेश जारी करके दी है। इसके अलावा गिलानी ने दो गुटों में बंटी हुर्रियत कांफ्रेंस के सभी दलों के नाम एक पत्र भी जारी किया है।

सईद अली शाह गिलानी 1993 से इसके अध्यक्ष थे। जम्मू-कश्मीर से पांच अगस्त 2019 को अनुच्छेद 370 तथा 35ए हटाए जाने के बाद से सईद अली शाह गिलानी नजरबंद थे। केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद जम्मू-कश्मीर में बदल रहे हालात तथा सियासी समीकरण के बीच यह सबसे बड़ा घटनाक्रम है।

मौजूदा समय में गिलानी दिल तथा सांस की बीमारी और किडनी रोग सहित कई अन्य बीमारियों से ग्रस्त हैं। अपने आडियो संदेश में गिलानी ने कहा कि मौजूदा हालात में मैं आल पार्टी हुर्रियत कांफ्रेंस से इस्तीफा देता हूं।