June 18, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

राजस्थान के बागी विधायकों पर हाईकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा, 24 तक स्पीकर को कार्यवाही से रोका

राजस्थान के बागी विधायक, वृतांत - Vritaant

न्यूज़ ब्यूरो। राजस्थान के सियासी घमासान से जुड़ी इस वक़्त की सबसे बड़ी खबर सामने रही है। जयपुर हाई कोर्ट में सभी पक्षों की ओर से बहस पूरी हो गयी है। कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद 24 जुलाई को फैसला सुनाने का निर्णय लिया है। तब तक हाईकोर्ट ने विधानसभा स्पीकर को सचिन पाय़लट सहित अन्य बागी विधयाकों के खिलाफ किसी भी तरह के कारवाई से रोका है। मतलब साफ़ है कि हाई कोर्ट के तरफ से पायलट सहित उनके कैंप के बागी विधायकों को फौरी तौर पर राहत मिली है।

गौरतलब है कि सचिन पायलट खेमे की तरफ से विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी के नोटिस के खिलाफ राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। जिस पर पिछले हफ्ते शुक्रवार को सुनवाई शुरू हुई थी, और आज यानी मंगलवार को सुनवाई पूरी हो गई है। बता दें कि स्पीकर की ओर से सचिन पायलट सहित उनके समर्थक विधयाकों को जारी नोटिस में पूछा गया था कि पार्टी का उल्लंघन करते हुए विधायक दल की बैठक में आने पर दलबदल विरोधी कानून के तहत विधानसभा की सदस्यता क्यों रद्द की जाए।

पूरे मामले को लेकर पायलट कैंप की दलील थी कि विधानसभा सत्र नहीं चल रहा है इसलिए ऐसा नोटिस भेजना विधानसभा अध्यक्ष के अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है। यह पार्टी का आंतरिक मामला है। विधायकों की बैठक में आना विधायकों केफ्रीडम ऑफ़ स्पीच’ (बोलने की स्वतंत्रता ) के अधिकार का हनन है।

बहरहाल, अब सबकी निगाहें सीएम आवास पर होने वाले कैबिनेट बैठक पर है। बैठक में कोर्ट के संभावित फैसले और बाद की परिस्थितियों पर विचार करने की बात सामने आई है।