June 17, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

आज होगी भारत-नेपाल की बातचीत, नेपाल द्वारा नया राजनीतिक नक्शा जारी करने के बाद पहली मीटिंग

Narendra Modi Meeting Oli, वृतांत - Vritaant

नई दिल्ली। 9 महीने की संवादहीनता और तीखे तेवर के के बीच नेपाल की अकड़ ढीली पड़ती नजर आ रही है। संबंध सुधारने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए दोनों देशों के अधिकारी नेपाल में भारत पोषित परियोजनाओं को लेकर आज समीक्षा बैठक करेंगे। नेपाल द्वारा मई में नया राजनीतिक नक्शा, भगवान राम और अन्य विवादित बयानों ने इस तल्खी और और बढ़ाने का काम किया है। वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आज भारत और नेपाल के बीच अहम बैठक होने जा रही है। यह एक तरह से पहले से निर्धारित बैठक है जिसमे कहा गया था कि दोनों देशों के उच्च अधिकारी नेपाल में भारत स्पॉन्सर्ड परियोजनाओं को लेकर 17 अगस्त को समीक्षा बैठक करेंगे। इस मीटिंग का सीमा विवाद से कोई खास संबंध नहीं है।

जानकारी के अनुसार बता दें की इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी और उनके नेपाली समकक्ष के.पी. शर्मा ओली ने शनिवार को टेलीफोन पर बातचीत की। नेपाल द्वारा मई में नया राजनीतिक नक्शा जारी किए जाने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव पैदा होने के बाद उच्च स्तर पर यह पहला संपर्क है। नई दिल्ली में जारी आधिकारिक बयान के अनुसार, ओली ने प्रधानमंत्री मोदी को टेलीफोन किया तथा देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर उनकी सरकार और भारत की जनता को शुभकामनाएं दी।

बयान के मुताबिक, नेपाल के पीएम ओली ने हाल में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के रूप में भारत के चुने जाने पर भी बधाई दी। बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में नेपाल को भारत का समर्थन जारी रखने की पेशकश की तथा दोनों देशों के बीच सभ्यातागत एवं सांस्कृतिक संबंधों को याद किया।

Narendra Modi Meeting Oli, वृतांत - Vritaantबयान के अनुसार, ”नेताओं ने दोनों देशों में कोविड-19 के प्रभाव को कम करने के लिये किये जा रहे प्रयासों के संदर्भ में आपसी एकजुटता प्रदर्शित की। बयान के अनुसार, मोदी ने टेलीफोन कॉल के लिए ओली को धन्यवाद दिया। काठमांडू में नेपाल के विदेश मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ओली ने पड़ोसियों को प्राथमिकता देने की प्रधानमंत्री मोदी के कदम की तारीफ की। मोदी ने स्वतंत्रता दिवस समारोह पर अपने भाषण में पड़ोसियों का जिक्र किया था। प्रधानमंत्री ओली ने कहा कि वह भविष्य में सकारात्मक द्विपक्षीय संबंधों की आशा करते हैं। उन्होंने 10 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी के साथ हुई अपनी बातचीत को भी याद किया।

टेलीफोन पर हुई बातचीत में ओली ने महामारी उन्मूलन और लोगों की जीवन रक्षा के लिए किए गए नेपाल सरकार के प्रयासों के बारे में बताया। कोविड-19 के लिए जल्दी टीका विकसित करने की जरुरत पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री ओली ने आशा जतायी कि भारत सहित दुनिया भर के वैज्ञानिक इसे जल्दी ही विकसित कर सकेंगे।

बता दें कि दोनों नेताओं के बीच बातचीत ऐसे समय में हुई है जब मई में नेपाल द्वारा नया राजनीतिक नक्शा जारी करने के बाद दोनो पक्षों के रिश्तों में तनाव उत्पन्न हो गया था। नये नक्शे में भारत के कुछ क्षेत्रों को नेपाल के भूभाग के रूप में दर्शाया गया।

Nepal India Meeting, Narendra Modi Meeting Oli