September 26, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

52 साल बाद नासा का मून मिशन 2024 में

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने 1972 में पहली बार किसी इंसान को चाँद पर भेजा था। इसके 52 साल बाद नासा ने फिर से इंसानो को चाँद पर भेजने की योजना बनायीं है। नासा के प्रमुख जिम ब्रैंडेस्टिन ने मंगलवार को इस बात का एलान किया। उन्होंने कहा की नासा 2014 में पहली बार किसी महिला और एक पुरुष को चाँद पर उतारने की योजना बना रहा है। हम चनद पर वैज्ञानिक खोज ,आर्थिक लाभ और नयी पीढ़ी के खोजकर्ताओं को प्रेरणा देने के लिए चाँद पर वापस जा रहे है।इससे पहले नासा ने 1969 से 1972 तक अपोलो 11 समेत 6 मिशन चाँद पर भेजे थे। 20 जुलाई 1969 को अपोलो 11 तहत पहली बार एस्ट्रोनॉट नील आर्मस्ट्रांग ,एडविन एल्ड्रिन चाँद की जमीन पर उतरे थे।

ब्रीफिंग के दौरान जिम ने बताया कि बजट को लेकर अभी थोड़ा रिस्क है क्योंकि देश में चुनाव होने वाले है। अगर अमेरिकी संसद दिसंबर तक 23,545 करोड़ रुपए की मंजूरी देती है तो हम अपने मिशन को अंजाम दे पाएंगे। मिशन के दौरान चाँद के अनछुए साऊथ पोल पर अंतरिक्ष यान लेंडिंग करेगा। यह मून मिशन 4 साल में पूरा होगा। इस मिशन में 28 बिलियन डॉलर यानि 2 लाख करोड़ रुपये का खर्चा आएगा। करीब सवा लाख करोड़ रूपये मॉडल पर खर्च होंगे। जिम ने कहा कि इस मिशन के तहत नयी तरह की चीज़ो की खोज होगी। चाँद पर जो वैज्ञानिक काम करेंगे ,वह पहले किये गए कामो से बहुत अलग होगा। 1969 के अपोलो मिशन के समय हमे लगता था कि चाँद सूखा है। लेकिन अब हमे पता चला है कि चाँद के साऊथ पोल पर भारी मात्रा में पानी मौजूद है।

इस वक्त तीन लूनर लैंडर के निर्माण के लिए परियोजनाएं चल रही है, जो अंतरिक्ष यात्रियों ले जायेंगे। लैंडर कि दावेदार ब्लू ओरिजिन अमेज़न के संस्थापक जेफ़ बेजोस की कंपनी है। दूसरा लैंडर एलोन मस्क की कंपनी स्पेस एक्स बना रही है और तीसरा लैंडर डैनेटिक्स कंपनी बना रही है। ये तीनो कम्पनिया ही लूनर लैंडर का निर्माण कर रही है। इस मिशन का नाम अर्टेमिस है। यह मिशन कई चरणों में होगा। पहला मिशन मानव रहित ओरियन स्पेस क्राफ्ट से नवंबर 2021 से शुरू होगा। मिशन के दूसरे चरण में अंतरिक्ष यात्री चाँद के आस पास चक्कर करेंगे और चाँद पर उतरेंगे। ओपलो 11 मिशन की तरह ही अर्टेमिस मिशन भी एक सप्ताह तक चलेगा। इस दौरान एस्ट्रोनॉट एक सप्ताह तक चाँद की सतह पर काम करेंगे।

%d bloggers like this: