September 26, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

आईआईटी के छात्रों ने बनाया 2G नेटवर्क पर चलने वाला एप्प ; अब जम्मू – कश्मीर में बच्चे 2G नेट पर भी ले सकेंगे ऑनलाइन क्लासेज

आईआईटी बॉम्बे के छात्रों ने घाटी में बच्चो के लिए ऑनलाइन पढाई करने की रह आसान कर दी है। आईआईटी बॉम्बे के छात्र बिलाल आबिदी और मुबीन मसूदी ने 2G नेटवर्क पर चलने वाला लाइव क्लासरूम एप्प बनाया है। बिलाल लखनऊ के रहने वाले है और मसूदी कश्मीर के रहने वाले है। घाटी में इस एप्प का इस्तेमाल 3000 से ज्यादा शिक्षक ऑनलाइन बच्चो को पढ़ाने के लिए कर रहे है। इसमें से कई ऐसे कश्मीरी छात्र है जो विदेश में रह कर कश्मीर के बच्चो को ऑनलाइन शिक्षा दे रहे है। इससे कश्मीर के हजारो छात्रों को पढ़ने का फायदा मिल रहा है।

इस एप्प का नाम वाईस एप्प है। इसको बनने वाले छात्रों ने कहा कि वाईस एप्प का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है। एक बार में अनगिनत लोग इससे जुड़ सकते है। इस पर बच्चो और शिक्षकों को वर्चुअल क्लास रूम जैसा अनुभव होता है। इसकी मदद से शिक्षक बच्चो को होम वर्क भी दे सकते है और प्राप्त भी कर सकते है। यह पूरी तरह सुरक्षित और फ्री है। इस एप्प अपर ऑफलाइन भी पढाई की जा सकती है। इस एप्प पर बच्चो की उपस्थिति भी दर्ज की जा सकती है।

दरहसल कश्मीरी छात्र पिछले डेढ़ साल से स्कूलों से दूर है। अनुच्छेद 370 के हटाने के बाद से कश्मीर में शांति बहाली के लिए कई पाबंदिया लगायी गयी थी और मोबाइल नेटवर्क भी बंद कर दिया गया था। इसके बाद करवाना की वजह से घटी के लोग फिर लॉक डाउन में चले गए है । फ़िलहाल घाटी में 2G नेटवर्क काम कर रहा है। इस नेटवर्क की स्लो स्पीड के चलते वहा के बच्चे ऑनलाइन क्लासेज लेने में असमर्थ थे। घाटी के बच्चे डेढ़ साल से पढाई से दूर है और 2G नेटवर्क में बच्चे ठीक से ऑनलाइन भी नहीं पढ़ पा रहे है। ऐसे में उनकी परीक्षा की तैयारी कैसे हो पायेगी। इसी के चलते 2G नेटवर्क पर आसानी से चलने वाले ऑनलाइन क्लासरूम एप्प बनाने का आईडिया आया। इस पर दोनों छात्रों ने दो महीने तक काम किया और आखिर में उनकी मेहनत सफल हो गयी।

12वी के छात्र फैजान अहमद कहते है कि पहले धरा 370 के हटने से लगी पाबंदियों और बाद में कोरोना के कारण उनकी पढाई बंद हो गयी थी। लेकिन शुक्र है हम वाईस एप्प की मदद से अपनी पढाई आसानी से कर पा रहे है। यह एप्प 2G के स्लो नेटवर्क में भी अच्छा काम करता है। जम्मू – कश्मीर के लेफ्टिनेंट गर्वनर मनोज सिन्हा ने भी इस एप्प को बनाने वाले छात्रों आबिदी और मुबीन की तारीफ की है।

%d bloggers like this: