September 26, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

अब अपने आस पास की छोटी किराने की दुकानों से भी ऑनलाइन सामान खरीद सकेंगे

दुनिया की बड़ी बड़ी कम्पनिया अब भारत में छोटे ऑफलाइन बाज़ारो में निवेश करने में रूचि दिखा रही है। कुछ दिन पहले ही भारत के सबसे आमिर शख्स मुकेश अम्बानी की कमपनी जिओ रिटेल ने फ्यूचर ग्रुप के रिटेल बिज़नेस को ख़रीदा था। कुछ समय पहले जिओ ने फेसबुक से डील की थी जिसमे देश के छोटे दुकानदारों को जोड़ने का कार्यक्रम लांच किया था। मेट्रो कैश एंड केरी के अनुसार देश में किराना का कारोबार करीब 50 लाख करोड़ रूपये का है।

इसी के चलते दूसरी कम्पनिया भी इसी फील्ड में निवेश कर रही है और नए कार्यक्रम चला रही है। जिनमे फ्लिपकार्ट ने फ्लिपकार्ट क्विक नाम से नया कार्यकर्म लांच किया है,जिसमे लोकल दुकानों से 90 मिनट में सामान को उपभोक्ताओ तक पंहुचा रही है। किराना के कारोबार में केवल छोटे दुकानदारों का ही दबदबा है। इसलिए बड़ी कम्पनिया छोटे दुकानदारों की तरफ आकर्षित हो रही है।लोग छोटे दुकानदारों से ज्यादा सामान खरीदते है जिससे ये कम्पनिया छोटे दुकानदारों को अपना सामान ऑनलाइन बेचने की सुविधा दे रही है।

इस तरह कम्पनिया दुकानदारों को डिजिटल कर रही है

वॉलमार्ट : सबसे बड़ी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट फ्लिपकार्ट के जरिये स्थानीय किराना स्टोर्स से टाई उप कर रही है। फ्लिपकार्ट ने अपने कार्यक्रम फ्लिपकार्ट क्विक के जरिये 700 शहरों के 27,000 छोटे दुकानदारों से टाई उप किया है। इसी के साथ ग्राहकों द्वारा आर्डर किया गया सामान 90 मिनट में पंहुचा रहे है।

जिओ मार्ट : जिओ ने फेसबुक से डील करके 9.9 प्रतिशत हिस्सेदारी फेसबुक को दी है। जिसके तहत फेसबुक भारत के छोटे दुकानदारों को व्हाट्सअप्प पर जोड़ने का प्रोग्राम शुरू किया है। जिसमे ग्राहक व्हाट्सअप से ही सामान आर्डर कर पाएंगे और घर पर अपना सामान प्राप्त कर पाएंगे। छोटे दुकानदार व्हाट्सप्प पर अपना रजिस्ट्रेशन करके सामान बेच सकेंगे।

अमेज़न : जिओ और फेसबुक के अगले दिन ही अमेज़न ने ‘लोकल शॉप्स ऑन ऑनलाइन’ की शुरुआत कर दी। इसमें छोटे दुकानदार अपने सामान को अमेज़न पर लिस्ट कर सकेंगे। अभी तक अमेज़न ने 5000 से अधिक दुकानदारों का रजिस्ट्रेशन कर चूका है। आने वाले समय में अमेज़न से भी अपने आस पास की दुकानों से सामान आर्डर कर पायंगे।

इस तरह से छोटे दुकानों के डिजिटल हो जाने से छोटे दुकानदारों का कारोबार और कमाई बढ़ेगी। इस तरह के बदलाव से सभी दुकानदार अपना सामान फिक्स रेट पर बेच पाएंगे और अपने अनुसार ग्राहकों को ऑनलाइन छूट भी दे सकेंगे। आने वाले समय में इस कार्यक्रम में बड़ी बड़ी सभी कंपनियों में बड़ी स्पर्धा देखने को मिलेगी।

%d bloggers like this: