July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

राजस्थान : राज्य सरकार ने जयपुर सहित आठ जिलों में लगाया रात में कर्फ्यू, मास्क नहीं लगाने पर 500 रूपये का जुर्माना

कोरोना वायरस मामलों में अचानक हुई वृद्धि के बाद, राजस्थान सरकार ने शनिवार को आठ सबसे प्रभावित जिलों में रात का कर्फ्यू लगाने और मास्क नहीं पहनने वालो पर 500 रूपये का जुर्माना लगाने का फैसला किया है। राजस्थान में शनिवार को एक ही दिन में सबसे ज्यादा कोविद-19 के पॉजिटिव मामलो की संख्या दर्ज की गयी जिसमे 3007 लोगो को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। शनिवार को राज्य ने कोविद-19 मामलों में 8.8% की वृद्धि दर्ज की, जिसमे कुल पॉजिटिव मामले 2,40,676 थे।

मुख्य मंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में राज्य मत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया। यह निर्णय लिया गया कि बाजार, रेस्त्रां, शॉपिंग मॉल और 8 जिलों के शहरी क्षेत्रो में अन्य व्यवसायिक संस्थान- जयपुर, जोधपुर, कोटा, बीकानेर, उदयपुर, अजमेर, अलवर और भीलवाड़ा, इन आठ जिलों में सबसे अधिक संक्रमण के चलते शाम 7 बजे तक है खुले रहेंगे। रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक इन जिलों के शहरी इलाको में रात का कर्फ्यू यथावत रहेगा। कर्फ्यू के दौरान, एक शादी समारोह में जाने वाले लोग, आवश्यक सेवाओं से संबंधित लोग, बसों, ट्रेनों और विमान यात्रा करने वालो को छूट दी जाएगी। इन जिलों में सरकारी और निजी संस्थानों में कर्मचारियों की उपस्थिति, जिनके पास 100 से अधिक कर्मचारी है, 75% से अधिक नहीं होंगे। राज्य सरकार के कर्मचारियों को रोटेशनल शिफ्ट पर बुलाया जायेगा।

मुख्य मंत्री कार्यालय से आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि बैठक को कोविद-19 मामलो के बारे में बताया गया था जो त्योहारी सीजन, मौसम में बदलाव, चुनाव, विवाह आदि के कारण बढे है। पॉजिटिव मामलों कि संख्या में लगातार वृद्धि के मद्देनजर, दुनिया के कई देशो और राज्यों ने एहतियाती कदम उठाये है। हरियाणा और महाराष्ट्र ने स्कूल-कलगे खोले थे, लेकिन मामलो के बढ़ जाने के एक सप्ताह के भीतर उन्हें बंद करने का फैसला किया। मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना बढ़ाकर 500 रुपये कर दिया गया है, पहले यह जुर्माना 200 रुपये था। कोविद-19 मामलों में स्पाइक पर अंकुश लगाने के लिए, पुरे राज्य में राजनितिक, समाजिक, धार्मिक, सांस्कृतिक और विवाह समारोहों में शामिल होने वाले लोगो की अधिकतम संख्या 100 से अधिक नहीं होगी।

%d bloggers like this: