June 25, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

एयरटेल के सीईओ विट्टल ने सरकार से 5G स्पेक्ट्रम की कीमते सस्ती रखने का आह्वान किया

airtel ceo on 5g spectrum, वृतांत - Vritaant

भारती एयरटेल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गोपाल विट्टल ने कहा टेलीकॉम कंपनियों को वित्तीय सुध लेने के लिए स्पेक्ट्रम की कीमते सस्ती रखने के लिए सरकार से 5G नेटवर्क में सार्थक निवेश का आह्वान किया है। उन्होंने सरकार और निजी क्षेत्र के बीच मजबूत सहयोग की आवश्यकता को भी उजागर किया और नेक्स्ट-जनरेशन की तेजी से ब्रॉडबैंड प्रोधोगिकी की शक्ति का लाभ उठाने और  उपकरणों, नेटवर्क, एप्लीकेशन और सेवाओं का विस्तार कर एक जीवंत 5G पारिस्थितिक तंत्र का निर्माण करने के लिए जोर दिया। विट्टल ने गुरुवार को फिक्की के एक कार्यक्रम में कहा कि डिजिटल इंडिया के लिए एक महत्वपूर्ण प्रवर्तक किफायती स्पेक्ट्रम है, जिससे हम सिर्फ एयरवेव्स पर पैसा खर्च करने की बजाय नेटवर्क बनाने में निवेश कर सकते है।

उनकी शुरुवाती टिप्पणी ऐसे समय में आयी है जब सरकार ने 2021 की शुरुवात में 4G एयरवेव की बिक्री की योजना बनायीं गयी है, जिसके बाद अगले साल 5G एयरवेव की बिक्री हो सकती है। दरअसल विट्टल ने हाल ही में कहा था कि सुनील मित्तल की अगुवाई वाला टेल्को 5G एयरवेव्स को एक प्रभावी रूप देगा अगर नियामक सेक्टर द्वारा निर्धारित आरक्षित कीमतों पर नीलामी की जाती है। उन्होंने कहा यह सब पारिस्थितिक तंत्र के बारे में है और ऐसा होने के लिए शिक्षा, सरकार और निजी खेत्र के बीच बहुत मजबूत सहयोग की आवश्यकता है जिसमे न केवल दूरसंचार शामिल है बल्कि डिजिटल सेक्टर और विनिर्माण क्षेत्र शामिल है।

विट्टल ने आगे कहा कि हम एक 5G दुनिया में आते है, इस तकनीक का वास्तविक लाभ उपकरणों, नेटवर्क, अनुप्रयोगों और सेवाओं के पार पारिस्थितिक तंत्र के निर्माण की क्षमता से आएगा और वास्तव में यही सब कुछ है। दूरसंचार उद्योग को देश की कनेक्टिविटी की संज्ञा देते हुए उन्होने बुनियादी ढांचे, सस्ते स्पेक्ट्रम और स्थिर दीर्घकालिक नीतियों के संयोजन को महत्व दिया जिससे उन्हें डिजिटल इंडिया के लिए एक महत्वपूर्ण प्रवर्तक करार दिया गया। एयरटेल के सीईओ ने टावर नेटवर्क के फिबेरलाइजेशन को गति देने के लिए फ़ास्ट ट्रैक राइट ऑफ़ वे (RoW ) क्लीयरेंस की आलोचना को भी रेखांकित क्योकि भारत 5G के लिए ब्रेसिज है।

%%footer%%