July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

भारत सरकार ने सुरक्षा कारणों के चलते 43 चीनी मोबाइल एप्प्स पर प्रतिबंध लगाया

भारत सरकार ने आज सुचना प्रोधोगिकी अधिनियम की धारा 69 A के तहत 43 चीनी मोबाइल एप्प को भारत में सुरक्षा कारणों के चलते प्रतिबंधित कर दिया है। यह कार्यवाही इन एप्प के बारे में इनपुट के आधार पर की गयी थी, जो गतिविधियों में संग्लन होने के लिए सम्प्रभुता के लिए पूर्वाग्राही है और भारत की अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य और सार्वजनिक व्यवस्था की सुरक्षा के मद्देनजर इन एप्प्स पर प्रतिबंध लगाया गया है। इलेक्ट्रॉनिक्स और सुचना प्रोधोगिकी मंत्रालय ने भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र, गृह मंत्रालय की ओर से प्राप्त व्यापक रिपोर्टो के आधार पर भारत में उपयोगकर्ताओ द्वारा इन एप्प के उपयोग को रोकने का आदेश जारी किया है।

लोकप्रिय शॉपिंग एप्प अलीएक्सप्रेस प्रतिबंधित एप्प्स में से है, जो चीनी इ-कॉमर्स प्रमुख अलीबाबा के लिए एक बड़ा झटका है। यह बड़ी इ-कॉमर्स कंपनी के एक बहुत बड़ा झटका है जिसका 37 बिलियन डॉलर का प्रारम्भिक प्रस्ताव चीन में रुका हुआ था। इससे पहले 28 जून 2020 को केंद्र ने 59 चीनी मोबाइल एप्प्स को भारत में प्रतिबंधित कर दिया था और 2 सितम्बर 2020 को सुचना प्रोधोगिकी अधिनियम की धारा 69 A के तहत 118 और एप्प्स पर प्रतिबंध लगा दिया था। सरकार सभी मोर्चो पर भारत के नागरिको और सम्प्रभुता और अखंडता के हितो की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और यह सुनिश्चित करने के लिए सभी सम्भव कदम उठाएगी।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार पहले से प्रतिबंधित एप्प्स में बाइडू, बाइडू एक्सप्रेस, टेनसेंट वाच लिस्ट, फेस यु, वी चैट, लूडो आल स्टार, अलीपे, और टेनसेंट वेइयुन के अलावा पुबज मोबाइल और पुबज मोबाइल लाइट शामिल है। अधिकारियो के अनुसार पहले प्रतिबंधित किये गए एप्प्स में भारतीय यूज़र्स का डाटा लीक होना बताया गया था। ये एप्प्स भारत के यूज़र्स का डाटा लेकर उसे चीन के सर्वर्स पर भेजती है। इनमे से अधिकांश एप्प्स या तो चीनी मूल के है या चीनी कंपनियों द्वारा नियंत्रित किये जाते है। इन एप्प्स पर प्रतिबंध लगाने का यह कदम करोडो भारतीय मोबाइल और इंटरनेट यूज़र्स के हितो की रक्षा करेगा। आईटी मंत्रालय ने कहा कि निर्णय एक लक्षित लक्ष्य है जो भारतीय साइबर स्पेस की सुरक्षा ओर सम्प्रभुता को सुनिश्चित करने के लिए है।

%d bloggers like this: