June 18, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

जयपुर : नवंबर के माह में होगी 3,000 से अधिक शादियां,अधिकारियो को कोरोना के बढ़ने का है डर

more than 3000 weddings in jaipur in november, वृतांत - Vritaant

राजस्थान में कोविद-19 के मामलों में हालिया तेजी के बावजूद, अगले कुछ दिनों में राजधानी जयपुर में 3,000 से अधिक शादियां होने वाली है, जो महामारी के प्रकोप के कारण लोगो के जीवन के लिए गंभीर खतरा है। अधिकारियो को डर है कि इस तरह की घटनाओ के कारण शहर में संक्रमण तेजी से फ़ैल सकता है। एडिशनल जिला कलेक्टर जयपुर, शंकर लाल सैनी ने कहा कि हमे नवंबर के महीने में 3,000 से अधिक शादियों की अनुमति के लिए आवेदन प्राप्त किये है। शादियों के लिए अनुमति ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से दी जा रही है।

25 नवंबर को देव उठनी एकादशी के अवसर पर 25 नवम्बर को अधिकांश शादियां होंगी और 100 लोगो तक को विवाह समारोह में शामिल होने की अनुमति होगी। सैनी ने कहा कि स्थिति चिंताजनक है क्योकि संक्रमण तेज गति से फ़ैल रहा है। यह निश्चित रूप से कोविद-19 के पॉजिटिव मामलो में वृद्धि के मद्देनजर एक चुनौतीपूर्ण स्थिति है। जिला प्रशासन और पुलिस के अधिकारी लगातार लोगो को दिशा-निर्देशों का पालन करने के बारे में जागरूक कर रहे है, जैसे कि सामाजिक दुरी बनाये रखने और फेस मास्क पहनने के बारे में लोगो को लगातार कहा जा रहा है।

पिछले कुछ दिनों में मामलो में अचानक आई तेजी को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने जयपुर सहित आठ जिला मुख्यालयों में रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगा दिया है। हालाँकि शादी समारोह में भाग लेने वालो को इससे छूट दी गयी है। अधिकारियो ने कहा कि अगर राज्य में 100 से अधिक लोग विवाह और अन्य कार्यक्रमों में शामिल होते है तो राज्य सरकार ने जुर्माने की राशि को 10,000 रुपये से बढ़ाकर 25,000 रूपये कर दिया है। जिला प्रशासन और पुलिस अधिकारी किसी भी उल्लंघन की जाँच करने के लिए मैदान में होंगे और दिशानिर्देशों और सरकारी आदेशों के अनुसार कार्यवाही की जाएगी।

टेंट डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष रवि जिंदल ने कहा कि आने वाले दिनों में अकेले जयपुर में शादी के आयोजनों की संख्या 4,000 तक जा सकती है। कोरोना वायरस महामारी ने शादी उद्योग के कारोबार को बुरी तरह प्रभावित किया है और अप्रत्यक्ष रूप से अधिक लोगो को रोजगार देता है, जैसे टेंट डीलर, फूलवाला, कैटरर्स, इवेंट प्लानर और अन्य सभी और इन सभी को इस संकट का सामना करना पड़ रहा है। जिंदल ने कहा कि एक विवाह कार्यक्रम में शामिल होने वाले लोगो की संख्या पर प्रतिबंध के कारण एक ही स्थान पर दो से तीन विवाह कार्यक्रम हो रहे है। इसके अलावा नवंबर के महीने में शादी के अन्य शुभ दिन 27 नवंबर और 30 नवंबर है।