June 18, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

सीरम इंस्टिट्यूट के सीईओ पूनावाला ने कहा कि कोविद-19 की वैक्सीन भारत में जनवरी तक उपलब्ध हो सकती है

serum institute covid-19 vaccine in january 2021, वृतांत - Vritaant

भारत के सीरम इंस्टिट्यूट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) आदर पूनावाला ने कहा कि नावेल कोरोना वायरस के खिलाफ एक सुरक्षित और प्रभावी टीका जनवरी 2021 तक भारत में उपलब्ध हो सकता है। पुणे स्थित ड्रग मेकर ने ब्रिटिश और स्वीडिश फार्मा प्रमुख एस्ट्राजेनेका के साथ मिलकर ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित निम्न और मध्यम आय वाले देशो के लिए कोरोना वायरस का टीका तैयार किया है। कविदशील्ड के रूप में विकसित टीका वर्तमान में देश में दूसरे और तीसरे चरण के नैदानिक परिक्षण में है। पूनावाला ने कहा कि और यूनाइटेड किंगडम में परीक्षणों की सफलता के आधार पर और यदि नियामक निकायों से अनुमोदन समय पर होता है तो हम उम्मीद कर सकते है कि जनवरी 2021 तक भारत  में वैक्सीन उपलब्ध हो, केवल अगर यह साबित हुआ कि यह इम्युनोजेनिक और प्रभावी है।

पूनावाला ने आगे कहा कि परीक्षणों से संबंधित मौजूदा आंकड़े बताते है कि कोविद से संबंधित कोई तात्कालिक चिंता नहीं है। अब तक हजारो लोगो ने इसे भारत और विदेशो में बिना किसी सुरक्षा चिंता के लिया है। हालाँकि वैक्सीन के दीर्घकालिक प्रभावों का पता लगाने में दो से तीन साल लगेंगे। वैक्सीन निर्माता ने पहले कोविद-19 वैक्सीन के दूसरे चरण के नैदानिक परीक्षण के लिए भारत में 17 साइटों को शॉर्टलिस्ट किया था। 18 से 55 वर्ष की आयु के कम से कम 1,600 उम्मीदवारों ने दूसरे चरण के दौरान नैदानिक परीक्षण में भाग लिया। तीसरे चरण का परीक्षण पिछले महीने कुछ साइटों पर हुआ। ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा एस्ट्राजेनेका के सहयोग से विकसित कोविद-19 वैक्सीन, नावेल कोरोना वायरस के खिलाफ दौड़ में सबसे उन्नत उम्मीदवारों में से एक है।

अक्टूबर में जारी किये गए आंकड़ों से पता चलता है कि पुनः संयोजक वायरल वेक्टर वैक्सीन दोनों बूढ़े और युवा व्यस्को में एक प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया पैदा करता है। कोविद-19 वैक्सीन ने 18 से 55 वर्ष की आयु के लोगो में दोहरी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया का उत्पादन किया, जो कि ब्रिटिश मेडिकल जर्नल, द लांसेट में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार है। एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी ने कहा कि दो खुराकों वाले टीके ने अधिक से अधिक प्रभाव दिखाए जबकि एकल खुराक इंजेक्शन का परीक्षण भी किया जा रहा है।  देश में ऑक्सफ़ोर्ड के कोविद-19 वैक्सीन के मूल्य निर्धारण पर, पूनावाला ने कहा हम मूल्य निर्धारण पर सरकार के साथ बातचीत कर रहे है। हम निश्चित है कि यह सभी के लिए सस्ती होगी।