July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

जयपुर : शहर में धीरे धीरे कम हो रहे है कोरोना के मामले, प्रशासन ने वैक्सीन के लिए भी योजना तैयार कर ली है

जयपुर शहर में अब कोरोना के मामले धीरे धीरे नियंत्रित होने लगे है। सरकार द्वारा समय पर सख्त नियमो के लगाए जाने से भी इस पर असर पड़ा है। प्रशासन द्वारा मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना लगाने और नाईट कर्फ्यू जैसे फैसलों के चलते शहर में भीड़ पर नियंत्रण पाया गया है जिससे कोरोना के मामलो में अब गिरवाट आने लगी है। शहर के लोगो ने भी प्रशासन द्वारा बनाये गए सभी नियमो का नियमित रूप से पालन किया है जिससे जयपुर शहर ने कोरोना पर जीत हासिल करना शुरू कर दिया है। पिछले दो दिन से शहर में 300 से भी कम कोरोना संक्रमण के मामले सामने आये है। इससे पहले जयपुर में लगातार कोरोना का ब्लास्ट हो रहा था जिसके मध्यनजर प्रशासन ने समय पर सख्त कदम उठाये और सभी ने जिम्मेदारी से प्रशासन के सुझाये गए हर नियम का अच्छे से पालन किया है।

जयपुर शहर में हाल ही में शादियों का सीजन भी चल रहा है लेकिन प्रशासन ने शादियों में केवल 100 को ही शामिल होने की अनुमति दी थी जिसका लोगो पूरी तरह से पालन किया है। हाल ही में कोरोना मामलों के कम हो जाने के बाद सरकार ने 25 लोगो के साथ बारात की निकासी निकालने की भी इजाजत दे दी है। सरकार ने रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगा रखा है, केवल शादी के समारोह में शामिल होने वाले लोगो को ही छूट दी गयी है। इसके अलावा शादियों में 100 से अधिक लोगो के शामिल होने पर 25,000 रूपये के जुर्माने का भी प्रावधान है और मास्क नहीं लगाने वालो के लिए सरकार ने 1000 रूपये का जुर्माना तय किया है। सरकार द्वारा सख्त रूप से बनाये गए इन नियमो के चलते जैपुट शहर ने में कोरोना के मामलों में गिरावट आना शुरू हो गयी है।

शहर में प्रशासन अब कोनो की वैक्सीन के लिए भी योजना तैयार कर ली है। इसके लिए सभी मेडिकल कर्मचारियों को चिन्हित कर लिया गया है। कोरोना वैक्सीन को वोटर लिस्ट की सूची के आधार पर लगाया जायेगा। कोरोना के टीके के लिए भी बूथ बनाये जायेंगे और जिस प्रकार चुनावो को संपन्न कराया जाता है उसी प्रकार कोरोना का टीका लोगो को लगाया जायेगा। टीका लगाने के लिए हर बूथ पर मेडिकल और अन्य सरकारी कर्मचारियों की टीम होगी। हर बूथ पर रोज़ 100 लोगो को कोरोना का टीका लगाया जायेगा। इसके लिए सरकार ने तीन चरण बनाये है। पहले चरण में मेडिकल और स्वास्थय सेवाओं से जुड़े हुए लोगो को टीका लगाया जायेगा। पहले चरण के बाद दूसरे चरण में पुलिस, अधिकारियो और सरकारी कर्मियों को टीका लगाया जायेगा। इसके बाद आम जनता को तीसरे चरण में कोरोना का टीका लगाया जायेगा। लेकिन इसमें भी सबसे पहले उन बुजुर्ग लोगो को कोरोना का टीका लगाया जायेगा जिनकी उम्र 60 साल अधिक है और जिन्हे और भी गंभीर बीमारिया है जैसे कैंसर, टीबी, मधुमेह आदि। इसके बाद अंत में सामान्य लोगो को कोरोना का टीका लगाया जायेगा।

%d bloggers like this: