July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

सामने आया कोरोना वायरस का नया स्वरुप, पहले से कई गुना से तेजी से फ़ैल रहा

कोरोना वायरस पूरी दुनिया के लिए एक परेशानी का कारण बन गया है। सामान्य कोरोना वायरस से अभी भी छुटकारा पाया नहीं गया है और इस वायरस का एक और स्वरुप सामने आया है जो और अधिक तेजी से फ़ैल रहा है। सबसे पहले कोरोना के इस स्वरुप का पता ब्रिटेन में चला है जहा यह बहुत अधिक तेजी से फैला है, जिसके कारण ब्रिटेन में कई जगहों पर लॉक डाउन लगा दिया गया है। इसके अलावा और अन्य देशो में भी इसके लक्षण देखे गए है जैसे नीदरलैंड, डेनमार्क, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका आदि में भी यह वायरस पाया गया है। फ़िलहाल वायरस के इस स्ट्रेन से मौतों की संख्या में बढ़ोतरी नहीं हुई है लेकिन इसके फैलने की गति सामान्य से 70% अधिक है जिससे यह पुनः तेजी से फैलता जा रहा है। पूरी दुनिया इस नए स्वरुप कारण सतर्क हो गयी है और भारत में इस नए स्वरुप को फैलने से रोकने के लिए उचित कदम उठाये गए है।

भारत ने फ़िलहाल ३१ दिसंबर तक ब्रिटेन से आने वाली सभी उड़ानों को बंद कर दिया है। इसके अलावा ब्रिटेन से आने वाले सभी यात्रियों को टेस्ट होगा और रिपोर्ट नेगेटिव आने पर भी लोगो करीब एक हफ्ते तक होने आइसोलेशन में रहना होगा। भारत सरकार ने लोगो को उचित नियमो का पालन करने का आग्रह किया है, ताकि भीड़ भाड़ न हो और इस वायरस पर काबू पाया जा सके। कई देशो की सरकारों ने सख्ती को बढ़ा दिया है और इस वायरस से जुड़े सभी लक्षणों पर नजर रखी जा रही है। ब्रिटेन में सरकार ने इस वायरस के की चपेट में आये इलाको में पुनः लॉक डाउन लगा दिया है। भारत द्वारा ब्रिटेन की सभी उड़ानों जो बंद करने के बाद सरकार ने कहा है कि जिन लोगो ने पहले से ब्रिटेन के लिए अपनी को बुक किया है उन्हें कंपनियों द्वारा पुनः भुगतान करने का आश्वासन दिया है।

इसके अलावा स्वास्थय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि लोगो को घबराने की जरुरत नहीं है जिस तरह हमने पहले वायरस से बचे रहे है उसी तरह इस नए स्वरुप से भी बचा जा सकता है। इसके अलावा वैक्सीन निर्माताओं ने भी कहा है कि कोरोना की वैक्सीन कोरोना वायरस के नए स्वरुप में भी कारगर होगी। इसलिए लोगो को इससे घबराने की आवश्यकता नहीं है। राजस्थान के मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने भी कोरोना के नए स्ट्रेन को देखते हुए राज्य में नए साल की पार्टियों और आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया गया है। इससे पहले राज्य में दिवाली के मौके पर भी पटाखों पर प्रतिबंध लगाया गया था। अशोक गहलोत ने अन्य राज्यों से भी अपील की है कि वे भी इसके लिए उचित कदम उठाये।

%d bloggers like this: