July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

किसान आंदोलन : सरकार के साथ किसानो की वार्ता सफल, लेकिन आंदोलन अभी भी जारी

महीने भर से भी अधिक समय से कृषि कानूनों के विरोध में चल रहा किसानो का आंदोलन अब कुछ दिनों में शांत हो जायेगा। सरकार के साथ हुई किसानो की वार्ता में सकारात्मक रुख दिखा और सरकार ने किसानो की दो मुख्य मांगो को मान लिया है। इन दोनों मांगो को लेकर 4 जनवरी को बैठक आयोजित की जाएगी। किसानो के साथ वार्ता में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर मौजूद थे और बैठक में हुई चर्चा के बाद कृषि मंत्री व अन्य सरकारी लोगो के चेहरे पर ख़ुशी थी क्योकि किसानो के साथ हुई यह वार्ता सफल रही और किसानो की अहम् मांगो पर खास ध्यान दिया गया। फ़िलहाल एमएसपी के कानून पर चर्चा अभी बाकि है और किसानो का आंदोलन अभी भी जारी है।

सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य के कानून पर चर्चा करके के लिए भी कहा है। लेकिन सरकार ने शर्त रखी है कि आंदोलन को पूरी तरह शांत किया जाना चाहिए। किसान नेताओ ने भी सरकार के किसानो प्रति रुख की सराहना की और कहा कि सरकार के साथ उनकी वार्ता अच्छी रही। किसानो की 4 मांगो में से सरकार दवारा २ मांगे मन लेने पर किसान नेताओ ने कहा कि वे 31 दिसंबर से ट्रेक्टर रैलियों को बंद कर रहे है। सरकार ने किसानो के साथ हुई इस बैठक में उनसे अपील की कि वे आंदोलन को पूरी तरह खत्म कर दे और देश में शांति व्यवस्था बनाने में मदद करे। बाकि अन्य दो मांगो को लेकर सरकार का कहना है कि इसके वे अन्य समिति बनाएंगे जिसके बाद एक और बैठक आयोजित की जाएगी और किसानो की सभी समस्याओ को हल किया जायेगा।

फिलाहल किसानो किसी भी अन्य समिति की आवश्यकता के लिए मना कर दिया और कहा कि जब तक तीनो कानूनों को रद्द नहीं किया जायेगा तब तक वे आंदोलन को खत्म नहीं करेंगे। सरकार ने किसानो को आश्वासन दिया कि वे आंदोलन को खत्म कर दे तब ही वे एमएसपी के कानून पाए चर्चा करेंगे। लेकिन किसानो ने आंदोलन खत्म करने के लिए मना कर दिया है। फ़िलहाल सरकार की तरफ किसानो की वार्ता कुछ हद तक सफल हुई है और उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही सरकार अन्य मुद्दों को भी हल करने की कोशिश करेगी जिससे अब किसान आंदोलन जल्द ही पूरी तरह शांत हो सकता है।

%d bloggers like this: