July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

5G सेवाओं में चीन को पीछे छोड़ भारत निकला आगे, जानिए क्या पीएलआई स्कीम

दुनिया में सबसे सस्ते और सबसे एडवांस 5G उपकरणों के चीन का नाम सबसे आगे आता है लेकिन अब भारत ने 5G सेवाओं में चीन को पीछे छोड़ दिया है। भारत सरकार द्वारा इलेक्ट्रॉनिक्स कम्पनियो के लिए लायी गयी पीएलआई स्कीम ने चीनी कम्पनियो की कमर तोड़ दी है। पीएलआई स्कीम का पूरा नाम प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम है। यह स्कीम केवल इलेक्टॉनिक्स कंपनियों के लिए लायी गयी थी जिसके तहत कोई भी विदेशी कम्पनी भारत में अपना प्रोडक्शन करती है और यदि प्रोडक्शन ज्यादा होता है तो सरकार द्वारा उस कम्पनि को इन्सेंटिव दिया जायेगा। जब कुछ महीने पहले इस स्कीम को लाया गया था तब यह इतना सफल नहीं हो पायी थी लेकिन अब यह स्कीम भारत के लिए फायदे का सौदा बनी है।

वर्तमान में टेलीकॉम सेक्टर की कम्पनियो से यह स्कीम भारत को बहुत लाभ दे रही है। कोरोना महामारी शुरू होने के बाद से चीन और भारत के बीच संबंध ठीक नहीं रहे है। चीन ने लगातार भारत को चोट पहुंचाने की कोशिश की है और भारत में चीन की हर हरकत का डटकर जवाब दिया है। चीन की बड़ी कम्पनिया ज़ेडटीई और हुवावे 5G के सस्ते उपकरणों में सबसे आगे है और पुरे विश्व में कोई भी कम्पनिया इनके सामने नहीं टिक पा रही थी। लेकिन पहले अमेरिका ने हुवावे पर प्रतिबंध लगाया और उसके बाद भारत ने चीनी कम्पनियो का बहिष्कार कर दिया। इसके बाद भारत को 5G उपकरणों के लिए यूरोपीय कम्पनिया इरेक्शन और नोकिआ पर निर्भर होना पड़ा है जिनके 5G उपकरण बहुत महंगे है। लेकिंन भारत सरकार द्वारा चलायी गयी पीएलआई स्कीम से अब ये कम्पनिया भारत में अपना प्रोडक्शन शुरू कर रही है जिससे अब सरकार द्वारा इन कम्पनियो को अपने प्रोडक्शन के हिसाब से इंसेंटिव दिया जायेगा।

इस स्कीम से अब भारत को चीनी कम्पनियो पर निर्भरता खत्म हो गई है। भारत में नोकिआ ने अपने 5G उपकरण बनाने के लिए प्रोडक्शन चालू कर दिया है और पहली बार भारत से इन उपकरणों का निर्यात भी होने लगा है। नोकिआ ने अपनी प्रोडक्शन लाइन को तेज कर दिया है तेजी से 5G उपकरण बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस पीएलआई स्कीम से अब भारत में 5G सेवाएं जल्दी और सस्ती कीमत में उपलब्ध होगी। इस स्कीम का लाभ उठाने के लिए भारत के कई टेलीकॉम ऑपरेटरो ने काम शुरू कर दिया है जिनमे सबसे आगे मुकेश अम्बानी की जिओ है। जिओ ने हाल ही में अगले साल से 5G सेवाओं को शुरू करने की घोषणा की थी और जिओ ने इस क्षेत्र में अपना बहुत अधिक मात्रा में निवेश भी किया है जिससे अब हम भारत में जल्द ही सबसे पहले जिओ की 5G सेवाओं का लाभ ले पाएंगे।

%d bloggers like this: