June 18, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

नया घर लेना चाहते है या नई गाड़ी लेने का है विचार, तो जल्दी कीजिये मलमास हो रहा है आरम्भ अर्थात नवीन कार्यो पर प्रतिबन्ध

मकर संक्रांति 2021, वृतांत - Vritaant

।।ॐ श्री गणेशाय नमः ।।

मल मास का आरंभ होने जा रहा है. हिंदू धार्मिक मान्यता के अनुसार खरमास में विवाह, नए घर का निर्माण, गृह प्रवेश आदि शुभ कार्य वर्जित हैं । मल मास जैसा की नाम से ही स्पष्ट है यह माह शुभ कार्यो के लिए नहीं है हाँ यदि आपका घर निर्माण इस माह से पहले आरम्भ हो चूका है तो उसको निरंतर जारी रख सकते है ।

खरमास कब से लग रहा है और क्यों कहते है इसको खर मास या मल मास

15 दिसंबर को सूर्य का धनु राशि में प्रवेश होने जा रहा है. सूर्य का धनु राशि में गोचर आरंभ होते ही खरमास लग जाएगा.सूर्य देव का धनु राशि में स्थित होना शुभ कार्य के लिए अच्छा नहीं मन जाता । सूर्य का राशि परिवर्तन धनु संक्रांति भी कहते हैं । यह माह 15 जनवरी मकर संक्रांति तक रहेगा ।

मल मास में मांगलिक कार्य

खरमास में विवाहादि मांगलिक और शुभ कार्य होते हैं प्रतिबंधित । खरमास में घर में नई चीजों को भी खरीद कर नहीं लाया जाता है. वाहन, मकान, दुकान, कीमती आभूषण या मंहगे गैजेट्स आदि खरीदने का विचार कर रहे हैं तो 15 दिसंबर से पहले खरीद लें. क्योंकि इन कार्यों के लिए 15 दिसंबर के बाद शुभ मुहूर्त नहीं है ।

मलमास कैसे लगता है

ज्योतिष गणना और पंचांग के अनुसार जब सूर्य गुरु की मूलत्रिकोण,अग्नि राशि धनु में गोचर करते हैं उस समय को खरमास कहा जाता है. हिंदू कैलेंडर के अनुसार पौष खरमास का महीना है इसमें मांगलिक कार्य, विवाह, यज्ञोपवित जैसे महत्वपूर्ण संस्कार आदि कार्य नहीं किए जाते हैं. खरमास में तीर्थ यात्रा करना पूजा सबसे उत्तम मास माना गया है ।

मकर संक्रांति 2021

खरमास का समापन मकर संक्रांति पर होगा । मकर संक्रांति का पर्व पंचांग के अनुसर 15 जनवरी 2021 को मनाया जाएगा. मकर संक्रांति का विशेष धार्मिक महत्व माना गया है । इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेंगे । सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करते ही मांगलिक और शुभ कार्य आरंभ हो जाएंगे । इसके बाद शादी विवाह आदि संस्कार के कार्यक्रम भी शुरू हो जाएंगे ।