July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

राजस्थान में नए साल की पार्टियों पर प्रतिबंध, 31 दिसंबर की रात से 1 जनवरी तक सख्त कर्फ्यू

राजस्थान में कोरोना के संकट को देखते हुए अब सरकार अब और भी सख्त हो गयी है। ब्रिटेन में कोरोना के नए स्ट्रेन के मिलने के बाद सरकार ने भीड़ के एकत्र होने की सभी सम्भावनाओ को बंद करने का फैसला किया है। हाल ही में सरकार ने ब्रिटेन से आने वाली सभी उड़ानों को रद्द कर दिया और राज्य में प्रवेश कर चुके लोगो पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। अब राजस्थान सरकार ने एक और नया फैसला किया है जिसमे मुख्य मंत्री अशोक गहलोत के निर्देशानुसार नए साल की पार्टियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। सरकार ने राज्य के सभी शहरो में नए साल की पूर्व संध्या पर सख्त कर्फ्यू लगा दिया है। राज्य में कोरोना को फैलने के रोकने के लिए 31 दिसंबर रात बजे से 1 जनवरी सुबह ६ बजे तक कर्फ्यू लगाया जायेगा।

राजस्थान ने गृह विभाग द्वारा जारी आदेश में यह भी कहा गया है कि नए साल की पूर्व संध्या पर राज्य के सभी बाजार शाम ७ बजे तक बंद कर दिए जायेंगे और यह आदेश सभी नगरपालिका परिषदों में लागु होगा। इस बार किसी भी नए साल की पार्टी का आयोजन है किया जायेगा और राज्य में पटाखों पर प्रतिबंध भी लगाया गया है। इससे पहले सरकार ने दिवाली पर भी पटाखों को प्रतिबंधित किया था और अब सरकार ने पटाखों से फैलने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए नए साल पर भी पटाखों को राज्य में प्रतिबंधित कर दिया गया है। सरकार का कहना है कि पटाखों के धुआँ से कोरोना से पीड़ित मरीजों की हालत गंभीर हो सकती है और उनके स्वास्थय पर इसके दुष्प्रभाव हो सकते है। इस लिए दिवाली पर भी पटाखों को प्रतिबंधित किया था और उसी की तर्ज पर नए साल पर भी पटाखों को प्रबंधित कर दिया गया है।

राज्य के गृह विभाग के एक वरिष्ठ कर्मचारी का कहना है कि यूनाइटेड किंगडम में पाए जाने वाले नए अधिक संक्रामक कोरोना वायरस तनाव के डर से रात में कर्फ्यू लगाया गया है। मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने लोगो को घर पर ही रहकर नए साल की खुशिया मानाने को कहा है और उन्होंने लोगो से अपील की है कि पटाखे न जलाये और बाहरी सभाओ में जाने से बचे। मुख्य मंत्री ने ट्वीट किया कि सार्वजानिक स्वास्थय को सर्वोपरि रखते हुए राज्य सरकार ने दिवाली त्यौहार के दौरान एक सख्त कदम उठाया था और अब नए साल के लिए भी इसी तरह का निर्णय लिया गया है। हालाँकि कुछ दिनों से राज्य में कोरोना के मामलों में गिरवाट आयी है लेकिन सरकार का प्रयास है कि राज्य से इस बीमारी को जड़ से ख़त्म किया जाये।

%d bloggers like this: