July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

खाटूश्याम से लौट रही कार को तेज रफ़्तार ट्रेलर ने मारी टक्कर, एक ही परिवार के 8 लोगो की मौत

किसी ने नहीं सोचा था कि पूरी श्रद्धा से भगवान के के दर्शन करने के बाद भगवान भक्तो को अपने पास ही बुला लेगा। ऐसे ही मध्यप्रदेश से आया एक परिवार खाटूश्याम के दर्शन कर वापस लौट रहा था, लेकिन तेज रफ़्तार से आ रहे ट्रेलर ने पीछे से उनकी कार को टक्कर मार दी जिसके बाद कार में सवार परिवार के 8 लोगो की मौत हो गयी। यह टक्कर इतनी भीषण थी कि कार विपरीत दिशा में घूम गयी और पुलिया पर बने डिवाइडर और ट्रेलर के बीच पीस गयी। यह हादसा एनएच-52 हाईवे पर हुआ है। इसी कार के साथ एक अन्य कार भी पीछे चल रही थी जिसमे परिवार के बाकि सदस्य सवार थे। दूसरी कार में सवार लोगो ने अपनी आँखों से इस भीषण हादसे को देखा तो उनके मुँह से चीख पुकार निकल गयी। अपने ही परिवार की इतनी भयानक मौत को देख अन्य परिवार के लोगो की रूह काँप गयी। इस हादसे की सुचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची।

पुलिस ने क्रेन से कार और ट्रेलर को लग करवाया। इसके बाद कार में फंसे शवों और 4 गंभीर घायलों को अस्पताल पहुंचाया। इस हादसे में 3 साल की बच्ची बाल बाल बच गयी जो परिवार के बाकि लोगो के साथ कार में सवार थी। परिवार के मृत 8 लोगो में 4 पुरुष, 2 महिलाये और 2 बच्चे शामिल है। इन मृतकों में दो सगे भाई श्याम सोनी (48) और राम बाबू (37), श्याम का बेटा ललित (24), राम बाबू का बेटा नयन (15), दो माँ बेटे ममता (28) और अक्षत(7), मौसी और भांजी बबली (22) और अक्षिता (8) शामिल है। एक ही परिवार में एक साथ इतने सदस्यों की मौत का मातम देख देखने वालो की भी आँखों से आंसू निकल गए।

मध्यप्रदेश का रहने वाले इस परिवार में से दो चचेरे भाई ललित और पवन 25 दिनों तक पैदल चलकर खाटूश्याम दर्शन को पहुंचे थे। परिवार के बाकि सदस्य इन्हे ही लेने के लिए कारो से खाटूश्याम पहुंचे और घर लौटते हुए यह हादसा हो गया। ये दोनों चचेरे भाई 1 जनवरी को जीरापुरा के पास बालाजी मंदिर से पैदल जत्थे के साथ निकले थे। इसके बाद वे 25 जनवरी को रींगस पहुंच गए थे। बाकि परिवार भी उसी दिन उनके पास पहुंच गया था। इसके बाद वे सालासर भी गए और खाटूश्याम दर्शन कर अपने घर लौट रहे थे तभी यह हादसा हो गया। हर दिन ट्रेलर और ट्रालों से होने वाले हादसों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे में परिवहन विभाग और सरकार को इनकी रोकथाम के लिए उचित कदम उठाने चाहिए।

%d bloggers like this: