June 25, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

एयरटेल ने भारत में किया अपनी 5G सेवा का सफल परीक्षण

airtel demonstrate 5g service in India bharat ki pahli 5g telecom company in hindi, वृतांत - Vritaant

हाल ही में भारत के दूसरे सबसे बड़े टेलीकॉम ऑपरेटर एयरटेल ने घोषणा की है कि वह भारत का पहला टेल्को बन गया है जिसमे सफलता पूर्वक अपनी 5G सेवा का भारत में परीक्षण किया है। एयरटेल ने भारत के हैदराबाद में अपनी 5G सेवा का सफलता पूर्वक लाइव परीक्षण किया है। एयरटेल ने इसके लिए अपने कमर्शियल नेटवर्क को ही काम में लिया है और सबसे पहले भारत में 5G की सर्विस का परीक्षण कर लिया। एयरटेल ने 5G सेवा को चलाने के लिए अपने 1800 मेगा हर्ट्ज़ के बैंड को काम में लिया है और 5G सेवा का लाइव डेमो दिया गया। एयरटेल की इस 5G सेवा के डेमो में बहुत ही कमाल की इंटरनेट स्पीड देखी गयी, जिसमे बहुत ही कम विलंबता के साथ 5G सेवा का लाइव डेमो बताया गया।

एयरटेल ने इस बार जिओ को पीछे छोड़ 5G सेवा का परीक्षण करने में बाजी मार ली है और भारत में सबसे पहले इस सेवा का परीक्षण करने वाला देश का पहला टेलीकॉम ऑपरेटर बन गया है। एयरटेल ने इस 5G सेवा का परीक्षण करने के लिए डायनेमिक स्पेक्ट्रम शेयरिंग टेक्नोलॉजी को काम में लिया है। यानि एयरटेल ने अपने पहले से देश में फैले हुए अपने 4G नेटवर्क के साथ ही 5G सेवा का परीक्षण कर लिया है।

एयरटेल के इस कारनामे के बाद ऐसा लगता है कि एयरटेल को देश में 5G से को रोलआउट करने के लिए ज्यादा समय नहीं लगेगा और हम एयरटेल अपने 4G नेटवर्क को आसानी से 5G नेटवर्क में बदल देगा जिसके बाद हमे 4G के साथ 5G सेवा को आसानी से काम में ले पाएंगे। एयरटेल ने इसके लिए अपने डायनेमिक बैंड्स को काम में लिया है। जो एक साथ 4G और 5G को साथ साथ डायनेमीक्ली एक ही स्पेक्ट्रम ब्लॉक में ऑपरेट कर सकते है।

इन डायनेमिक बैंड्स में 1800 मेगा हर्ट्ज़, 2100 मेगा हर्ट्ज़ और 2300 मेगा हर्ट्ज़ के बैंड्स शामिल है। इसके अलावा 800 मेगा हर्ट्ज़ और 900 मेगा हर्ट्ज़ के बैंड्स भी इस 4G और 5G दोनों को साथ साथ ऑपरेट कर पाएंगे। एयरटेल के इस सफल परीक्षण के बाद उम्मीद है कि आने वाले 5-6 महीनो में ही हम एयरटेल की 5G सेवा को पुरे देश में शुरू होते हुए देख पाएंगे।

एयरटेल की तरफ से उठाये गए इस शानदार से कदम के चलते हमे 4G से 5G सेवा में स्विच करने के लिए केवल एक सॉफ्टवेयर अपडेट की जरुरत होगी जिसके बाद पहले से मौजूद नेटवर्क पर ही हम 5G सेवा का उपयोग कर पाएंगे। हैदराबाद में हुए इस डेमो में एयरटेल ने 5G का स्टैंड अलोन मोड काम में लिया। 5G सेवा के इस डेमो में एयरटेल ने जो 5G स्मार्टफोन काम में लिए वे ओप्पो रेनो 5 प्रो और ओप्पो फाइंडएक्स 2 प्रो थे। एयरटेल द्वारा इस डेमो के बाद हम जल्द ही भारत में 5G सेवा को काम में ले पाएंगे और उम्मीद की जा रही है इसकी कीमत भी 4G सेवा के बराबर ही होगी।

%%footer%%