July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

अब जल्द ही टीवी की तकनीक में आएगा बड़ा बदलाव, बाजारों में देखने को मिलेंगे माइक्रो एलईडी टीवी

टेक्नोलॉजी ने हमे ऐसे प्रोडक्ट्स दिए जिन्होंने हमारे जीवन को पूरी तरह बदल दिया है और हर रोज़ टेक्नोलॉजी में हो रही नयी खोज के चलते अब हर कम्पनी में होड़ मची हुई है। ऐसे में हमने टीवी में कई टेक्नोलॉजी देखने को मिली है जिससे हमे घर बैठे सिनेमा घर जैसा अनुभव मिलता है। ऐसे टेक्नोलॉजी में तेजी से हो रहे बदलावों को देखते हुए हमारा टीवी देखने का अनुभव और भी अच्छा होता जा रहा है। ऐसे में टीवी बनाने वाली कम्पनिया टीवी की अलग अलग तकनीकों पर काम कर रही है। ऐसे में ओलेड और एलईडी टीवी की और भी बेहतर तकनीक पर अभी फ़िलहाल कम्पनिया लगातार काम कर रही है। ऐसे हम भविष्य में माइक्रो एलईडी टीवी भी देख पाएंगे और इनकी कीमत भी कई ज्यादा  में होगी।

जिस प्रकार टेक्नोलॉजी ने हमे फोल्डिंग फ़ोन दिए है जिनकी स्क्रीन को मोड़ा जा सकता है, ऐसे ही भविष्य में हमे टीवी स्क्रीन भी देखने को मिल सकेगी। फोल्डिंग फ़ोन की तरह हम टीवी स्क्रीन को भी मोड़ सकेंगे और खोल सकेंगे। यानि हमे आने वाले समय में फोल्डिंग टीवी भी देखने को मिलेंगे। इसके अलावा ये टीवी पारदर्शी भी होंगे जिसके आर पार देखा जा सकेगा।

कई टीवी बनाए वाली कम्पनिया अलग अलग टीवी बनाने के लिए जानी जाती है। ऐसे में सैमसंग जैसी कम्पनी एलईडी टीवी पेश करती है और हर बार नयी तकनीक को इन टीवी में काम में लिया जाता है जिससे ये टीवी को और भी बेहतर बनाते जा रहे है। ऐसे ही दूसरी कम्पनी एलजी भी ओएलईडी टीवी बाजार में उतार रही है और लगातार अपने टीवी को और भी बेहतर तकनीक से पेश करने के लिए काम कर रही है।

हालाँकि ओलेड टीवी एलईडी टीवी से बहुत ही बेहतर और साफ़ होते है। ओलेड टीवी में बैक लाइट नहीं होती है, ऐसे में ये एलईडी की तुलना में अधिक पतले और हलके होते है। इसके अलावा सैमसंग और सोनी जैसी कम्पनियो ने माइक्रो एलईडी टीवी भी पेश किये है। इन माइक्रो एलईडी टीवी में पिक्सेल्स को ओलेड टीवी की तरह असेम्बल कर सकते है। कंपनियों के अनुसार माइक्रो एलईडी टीवी गैर आर्गेनिक सामग्री से बने होते है इसलिए ये दस साल भी अधिक समय तक चल सकते है। जबकि ओलेड टीवी आर्गेनिक सामग्री से बने होने के कारण इनकी आयु कम होती है और ये लम्बे समय तक नहीं चलते है।

%d bloggers like this: