June 25, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

राजस्थान :मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने दिए स्कूल-कॉलेज खोलने के निर्देश, 18 जनवरी से 50% विद्यार्थियों के साथ खोले जायेंगे स्कूल-कॉलेज

, वृतांत - Vritaant

राजस्थान के मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने राज्य में लॉक डाउन से बंद पड़े स्कूल-कॉलेज को 18 जनवरी से फिर से खोलने के निर्देश दिए है। मुख्य मंत्री ने राज्य में 9वी से 12वी तक की कक्षाएं, विश्वविद्यालय, महाविद्यालय की अंतिम वर्ष की कक्षाओं, कोचिंग सेंटर और सरकारी प्रशिक्षण संस्थानों को 18 जनवरी से खोलने के निर्देश दिए है। इसकी घोषणा मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करते हुए की। उन्होंने अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा कि बेहतरीन प्रबंधन और प्रदेशवासियों के सहयोग से राजस्थान में कोरोना की स्थिति काफी नियंत्रण में है। प्रदेश में रिकवरी रेट बढ़कर सबसे अधिक हो गयी है। कुछ जिलों में कोरोना संक्रमण के मामले शून्य हो गए है और अन्य जिलों में भी स्थिति नियंत्रण  में हो गयी है। इसे देखते हुए ही मुख्य मंत्री ने शिक्षण संस्थानों को 18 जनवरी से खोलने के निर्देश दिए।

इसके आगे उन्होने ट्विटर पर लिखा कि साथ ही वैक्सीन की प्रक्रिया के कारण मेडिकल कॉलेज, डेंटल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज और पेरामेडिकल कॉलेज 11 जनवरी से खोलने के निर्देश दिए गए है। इन सभी शिक्षण संस्थानों में प्रत्येक कक्षा में केवल 50% उपस्थिति पहले दिन रहेगी, शेष विद्यार्थियों को अगले दिन बुलाया जायेगा। इसका मतलब एक दिन में केवल एक कक्षा के केवल 50% विधार्थी ही संस्थानों में जा सकते है। वायरस से बचे रहने के लिए हेल्थ डिपार्टमेंट शिक्षकों को जरुरी प्रशिक्षण भी देंगे। मुख्य मंत्री ने आगे कहा कि इसके साथ सभी हेल्थ प्रोटोकॉल का ध्यान रखना अनिवार्य होगा। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मास्क पहनना, सेनिटाइजर का उपयोग करना आदि का अनिवार्य रूप से पालन किया जायेगा।

इसके अलावा मुख्य मंत्री ने कोरोना के नए स्ट्रेन के बारे में चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि यह बहुत चिंता का विषय है इसको हलके में नहीं लेना चाहिए। इस विषय में किसी भी प्रकार की लापरवाही से बड़ी समस्या बन सकती है। इस नए स्ट्रेन को रोकने लिए प्रशासन ब्रिटेन से आये सभी यात्रियों की मॉनिटरिंग कर रहा है और शेष यात्रियों की भी मॉनिटरिंग की जाएगी। लंदन में कोरोना के नए स्ट्रेन की स्थिति गंभीर हो गयी है, इसको दखते हुए हमे सावधानी बरतनी चाहिए।

%%footer%%