June 25, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

अब देश में अशांति होने पर बंद नहीं होगा नेट, केवल सोशल मीडिया एप्प्स को किया जायेगा डाउन।

govt work on social media apps slowdown, वृतांत - Vritaant

देश में कई बार अशांति का माहौल होने पर नेट को बंद कर दिया जाता है। ऐसे में नेट बंद हो जाने से सभी क्षेत्र बहुत ही प्रभावित होते है और देश में अरबो रूपए का नुकसान होता है, क्योकि ऐसे में ऑनलाइन ट्रांसेक्शन और ऑनलाइन किया जाने वाला कारोबार ठप्प हो जाता है जिससे देश में भारी आर्थिक नुकसान होता है। देश में कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिए कई आपात स्तिथि में इंटरनेट को बंद कर दिया जाता है ऐसे में आम लोगो को भी कड़ी परेशानिया उठानी पड़ती है। ऐसे में अब केंद्र सरकार एक ऐसी योजना पर काम कर रही है जिससे अब आपात स्तिथि में इंटरनेट को बंद नहीं करना पड़ेगा बल्कि सोशल मीडिया एप्प्स को डाउन किया जायेगा जिससे देश में कोई अपवाह या गलत खबरे ना फ़ैल सके।

इस योजना के लिए सुचना और प्रसारण मंत्रालय, आईटी मंत्रालय, टेलीकॉम मंत्रालय जैसे केंद्र के अन्य विभागों को हिस्सा बनाया जायेगा। इस बहुआयामी योजना का उद्देश्य यही है कि देश में इंटरनेट के बंद होने की स्तिथि से बचा जा सके और कानून व्यवस्था को भी बनाये रखा जा सके। इस योजना को शुरू करने के लिए देश के टेलीकॉम ऑपरेटरों की भी हिस्सेदारी आवश्यक होगी। इनके जरिये ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को कुछ समय के लिए डाउन किया जा सकेगा। इसी योजना को शुरू करने के लिए सरकार जिओ ब्लॉकिंग की तकनीक का उपयोग करेगी। इससे यूज़र्स के लोकेशंन के आधार पर यूज़र्स के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को बाधित किया जा सकता है।

इस तकनीक के जरिये आपात वाले स्थानों पर यूज़र्स को ब्लैक लिस्ट किया जा सकेगा जिससे उस स्थान पर इंटरनेट के बंद नहीं होने पर भी सोशल मीडिया एप्प्स का इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा। इस जिओ ब्लॉकिंग तकनीक से यूज़र्स का इंटरनेट कंटेंट बाधित कर दिया जायेगा। इसके बाद आपात स्तिथि के पुनः सही होने यूज़र्स को वाइट लिस्ट किया जा सकेगा जिससे यूज़र्स फिर से सोशल मीडिया एप्प्स का उपयोग कर पाएंगे। इस योजना से देश में आर्थिक स्थिति पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा और न कोई डिजिटल ट्रांसेक्शन बाधित हो पायेगा।

%%footer%%