July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

पर्यटन मंत्री नितिन गडकरी ने लॉन्च किया सीएनजी से चलने वाला ट्रेक्टर, जानिए क्या है खास इस ट्रेक्टर में

पर्यटन मंत्री नितिन गडकरी ने भारत का पहला सीएनजी से चलने वाला ट्रेक्टर लॉन्च किया है। पहली बार किसी डीजल से चलने वाले ट्रेक्टर को सीएनजी से चलने वाले ट्रेक्टर में परिवर्तित किया गया है। भारत में डीजल के दाम पेट्रोल के साथ आसमान छू रहे है और ऐसे में किसानो को ट्रेक्टर को काम में लेना काफी महंगा पड़ता है। लेकिन सीएनजी से चलने वाले ट्रेक्टर से किसानो की यह परेशानिया खत्म हो जाएगी और किसान किफायती दर पर खेती के काम में ट्रेक्टर को काम में ले पाएंगे। रावमत टेक्नो सोलूशन्स टोमोसेटो अचीले इंडिया द्वारा संयुक्त रूप से किये गए इस रूपांतरण किसानो की लागत में कमी आएगी।

इससे किसानो की उत्पादन लागत कम होगी और पैदावार में मदद मिल सकेगी। इस प्रकार किसानो के लिए सबसे महत्वपूर्ण लाभ ईंधन की लागत पर सालाना एक लाखो रूपये से भी अधिक की बचत हो सकेगी। सीएनजी एक स्वच्छ ईंधन है क्योकि अन्य कार्बन अन्य प्रदूषक की मात्रा सबसे कम है। यह कम प्रदूषण फैलाने वाले ईंधन है जिससे इस ट्रेक्टर की जीवन अवधि भी बढ़ जाएगी। इसके लिए केवल नियमित रखरखाव की आवश्यता होती है। यह डीजल से काफी सस्ता ईंधन है क्योकि यह डीजल की तरह ज्यादा खर्च नहीं होता है।

इसके अलावा सीएनजी से संचालित होने के कारण यह माइलेज भी पेट्रोल और डीजल से चलने वाले वाहनों से कई ज्यादा देगा इसके अलावा यह सुरक्षित भी बहुत है क्योकि सीएनजी से संचालित वाहन सील बंद टैंक के साथ आते है जिससे ईंधन से बाहर निकलने और आग लगने का कोई खतरा नहीं होता है। इससे हमे भविष्य में भी सीएनजी से संचालित वाहनों की संख्या में वृद्धि भी देखने को मिलेगी। ऐसे में अन्य कम्पनिया भी सीएनजी से संचालित वाहनों के निर्माण में अधिक ध्यान दे रही है क्योकि यह लोगो के लिए किफायती साबित होगा।

किसानो के सीएनजी से चलने वाले ट्रेक्टर से और भी लागत कम हो जाएगी क्योकि किसान यह ईंधन खुद भी बना सकते है। किसानो के पास बायो गैस संयत्र से यह ईंधन बनाने की सुविधा होती है जिससे किसानो को इस ईंधन की लागत बहुत ही कम पड़ती है। इसके अलावा किसान बायोगैस द्वारा सीएनजी का उत्पादन कर इसे अच्छी कीमत पर बेचा भी जा सकेगा। इससे किसानो को कई ज्यादा आर्थिक लाभ हो सकेगा और किसानो की उत्पादन क्षमता में भी वृद्धि हो सकेगी।

%d bloggers like this: