June 18, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

67वे राष्ट्रिय फिल्म पुरस्कारों की हुई घोषणा, जानिए किस किसने जीता यह पुरस्कार

67th national film awards, वृतांत - Vritaant

भारत में 67 वे राष्ट्रिय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा कर दी गयी है। जिसमे बॉलीवुड की कई फिल्मो और कलाकारों ने यह राष्ट्रिय पुरस्कार जीता है। हर साल आयोजित होने वाले इन राष्ट्रिय पुरस्कारों में देश में साल की सर्वश्रेष्ठ फिल्मो और सर्वश्रेष्ठ कलाकारों को यह पुरस्कार दिया जाता है। इस साल आयोजित हुए इन फिल्म पुरस्कारों में सबसे पहले बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म छिछोरे को बेस्ट हिंदी फिल्म का अवार्ड मिला है। इसके अलावा बॉलीवुड के कलाकारों की बात की जाये तो अभिनेत्री कंगना रनौत को उनकी फिल्म मणिकर्णिका : द क्वीन ऑफ़ झाँसी और पंगा के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का राष्ट्रिय फिल्म पुरस्कार मिला है। इस बात की जानकारी कई न्यूज़ एजेंसियों ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट्स के जरिए दी है। जिसमे उन्होंने बताया है कि फिल्म छिछोरे को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का राष्टीय पुरस्कार मिला है और कंगना रनौत को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रिय पुरस्कार मिला है।

इसके अलावा अन्य अभिनेताओं की बात की जाये तो मनोज बाजपेयी को उनकी फिल्म भोसले के लिए बेस्ट एक्टर का राष्ट्रिय पुरस्कार मिला है और उनके साथ दक्षिण के मशहूर अभिनेता धनुष को भी उनकी  फिल्म असुरन के बेस्ट एक्टर का राष्ट्रिय पुरस्कार दिया गया है। दोनों को अभिनताओं को साझा रूप से यह पुरस्कार दिया गया है। इस साल आयोजित हुए इस 67वे राष्ट्रिय पुरस्कारों में साल 2019 की फिल्मो को ही इन पुरस्कारों के चुना गया है और साल 2019 की फिल्मो के लिए ही अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को यह पुरस्कार दिया गया है। साल 2019 में आयोजित इन पुरस्कारों में साल 2020 की फिल्मो को शामिल नहीं किया गया है।

साल 2020 में कोरोना महामारी के चलते बहुत ही कम फिल्मे रिलीज़ हो पायी थी और देश में लॉक डाउन हो जाने के कारण पिछले साल 2019 की फिल्मो के लिए इन पुरस्कारों का वितरण नहीं हो पाया था जिसके कारण इस साल इन पुरस्कारों की घोषणा की गयी है। इसके अलावा बॉलीवुड फिल्म केसरी के देश भक्ति गाने तेरी मिट्टी के लिए बी प्राक को बेस्ट मेल प्लेबैक सिंगर का राष्ट्रिय पुरस्कार मिला है। इन राष्ट्रिय पुरस्कारों में बॉलीवुड फिल्मो के अलावा देश में अलग अलग सभी भाषाओ की फिल्मो को शामिल किया गया है। जिनमे दक्षिण भारत की तेलुगु और तमिल फिल्मो ने भी अलग अलग वर्ग में यह पुरस्कार जीता है।