June 25, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

इंजीनियरिंग करने के लिए PCM नही है अनिवार्य, जानें BE के कौनसे विषयों में विद्यार्थी ले सकते हैं प्रवेश – Engineering Without PCM in Hindi

Engineering Without PCM in Hindi,इंजीनियरिंग और PCM, वृतांत - Vritaant

पूरे देश में चर्चा हो रही है कि अब बायोलॉजी यानी कि PCB और वाणिज्य (Commerce) संकाय के विद्यार्थी इंजीनियरिंग कर सकते हैं। जी हाँ बात तो सही है लेकिन इस बात में पूरा सच कुछ और है। हम आपको बताते हैं, दरअसल AICTE (ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन) के चेयरमैन प्रोफेसर अनिल डी. सहस्त्रबुद्धे द्वारा दिनांक 13 मार्च को की गई घोषणा के तहत बायोलॉजी एवं कॉमर्स संकाय के विद्यार्थी 4 वर्षीय इंजीनियरिंग कोर्स में दाखिला ले सकते हैं अर्थात इंजीनियरिंग या BE/B.tech कर सकते हैं। लेकिन यह इंजीनियरिंग केवल कुछ चुनिन्दा विषयों में ही की जा सकती है जैसे कि बायोटेक्नोलॉजी, टेक्सटाइल और एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग।

AICTE के चेयरमैन ने जैसे ही घोषणा की सोशल मीडिया पर अफवाहें फैलना शुरू हुई और तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी। विशेषज्ञों का मानना यही है कि इंजीनियरिंग यानी की अभियांत्रिकी में गणित विषय का होना अनिवार्य होना चाहिये। लेकिन कुछ वर्षों से इंजीनियरिंग में कुछ नए कोर्सेज को शामिल किया गया है जो कि अलग-अलग सेक्टरों से संबंधित हैं।

ऐसे में इन कोर्सेज में दाखिला लेने के लिए गणित विषय वाले विद्यार्थियों ने उतनी रूचि नहीं दिखाई तथा साथ ही अन्य विषयों ने सवाल उठाने शुरू किये कि इंजीनियरिंग के इन कोर्सेज में भला गणित विषय की अनिवार्यता क्यों बनाई गई है। चूँकि सरकार ने नई शिक्षा नीति को काफी लचीली बनाने की कोशिश की है और यह भी एक इस शिक्षा नीति के एक लचीलेपन का उदाहरण ही है।

इन चुनिन्दा विषयों के तहत इंजीनियरिंग करवाने की सुविधा हालाँकि देश में बहुत ही कम कॉलेजों के द्वारा प्रदान की जा रही है। यह कोर्सेज मुख्यतः कुछ डीम्ड विश्वविद्यालयों के द्वारा ही ऑफर किये जा रहे हैं। बायोटेक्नोलॉजी एवं एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग करने के लिए गणित विषय की अनिवार्यता शिक्षा व्यवस्था में एक लूप होल मानी जा रही थी जिसमे सुधार किया गया है।

इस निर्णय के तहत अब बायोलॉजी और एग्रीकल्चर विषयों से 12वीं पास करने वाले विद्यार्थी इन विषयों में 4 वर्षीय इंजीनियरिंग की पढाई कर पाएंगे। कई विशेषज्ञों ने इस निर्णय की सराहना की है तथा बायोलॉजी या कृषि संकाय से जुड़े विद्यार्थियों ने इसे बहुत ही अहम फैसला बताया है।

दूर कर लें अपनी ग़लतफ़हमी-इंजीनियरिंग के इन कोर्सेज में अभी भी केवल गणित विषय के विद्यार्थी ही दाखिला ले सकते हैं

कंप्यूटर साइंस, आईटी, मेकेनिकल, इलेक्ट्रिकल जैसे मुख्य विषयों में 4 वर्षीय इंजीनियरिंग की डिग्री करने के लिए विद्यार्थी को 12वीं कक्षा में PCM यानी की गणित विषय में तय मानकों के अनुसार अंकों के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है तथा JEE की परीक्षा में मिली रैंक की भी उतनी ही मान्यता रहेगी।

इसका सीधा सा अर्थ यह है कि उक्त मुख्य विषयों में बायोलॉजी, कॉमर्स या कृषि संकाय के विद्यार्थी दाखिला लेने के योग्य नहीं माने जायेंगे।

%%footer%%