July 29, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

केंद्र सरकार द्वारा जारी इज ऑफ़ लिविंग इंडेक्स में जयपुर को देश में मिली 23वी रैंक, जोधपुर और कोटा भी इस लिस्ट में शामिल

केंद्र सरकार ने हाल में ही देश सबसे अच्छे रहने लायक घरो की सूचि इज ऑफ़ लिविंग इंडेक्स को जारी किया है जिसमे जयपुर शहर इस बार थोड़ा निचे के पायदान पर चला गया है। इस इंडेक्स में जयपुर ने 23वी रैंक हासिल की है। इसके अलावा इस सूचि में राजस्थान से दो और शहरो को भी शामिल किया गया है जिनमे जोधपुर और कोटा शामिल है। इस इंडेक्स में कोटा ने जयपुर को पीछे छोड़ 19वी रैंक हासिल की है जबकि जोधपुर को 43वे स्थान पर जगह मिली है। इस सूचि में देश टॉप 100 शहरो को शमिल किया गया है जो रहने के सबसे ज्यादा पसंद किये जाते है। आवास और शहरी मामलो के मंत्रालय ने इज ऑफ़ लिविंग या ईओएलआई 2020 की घोषणा की है।

यह इंडेक्स जीवन की गुणवत्ता और शहरी विकास के लिए विभिन्न पहलों के प्रभाव का मूल्यांकन करने की सुविधा प्रदान करता है। इस इंडेक्स में जीवन की गुणवत्ता, आर्थिक क्षमता, स्थिरता और लचीलापन के आधार पर शहरो का व्यापक सर्वेक्षण किया गया। इस मूल्यांकन में शहर प्रशासन द्वारा प्रदान की गयी सेवाओं पर निवासियों के विचारो को भी शामिल किया गया। इसलिए जीवन की गुणवत्ता के आधार पर जयपुर को 23वे स्थान पर रखा गया। नासिक और रायपुर जैसे शहरो ने जीवन की गुणवत्ता के समान मूल्यांकन पर जयपुर को पीछे छोड़ दिया। इसके अलावा आर्थिक व्यवस्था के पैमाने पर जयपुर को 13वे स्थान पर रखा गया है, इसके बाद वड़ोदरा और नवी मुंबई जैसे शहर आते है।

जयपुर शहर ने स्थिरता के मामले में खराब प्रदर्शन किया, जहा पर जयपुर 40वे स्थान पर रहा। जयपुर मेरठ, भोपाल, जबलपुर और कानपूर जैसे कई शहरो से पिछड़ गया जिन्होंने  एक ही रैंकिंग में बेहतर प्रदर्शन किया है। केंद्र सरकार के अनुसार इन परीक्षणों से एकत्रित डाटा से सरकार और स्थानीय अधिकारियो को अंतराल की पहचान करने, संभावित अवसरों पर टैप करने और नागरिको के जीवन में सुधार करने के लिए व्यापक विकास परिणामो को पूरा करते हुए शासन में दक्षता बढ़ाने में मदद करने की आशंका है। इस इज ऑफ़ लिविंग इंडेक्स में देश में 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरो में बंगलौर पहले स्थान पर रहा है जबकि पुणे ने दूसरे और अहमदाबाद ने तीसरे स्थान पर जगह बनाई है।

%d bloggers like this: