January 13, 2022

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

राजस्थान में अगली भर्तियों से लागु किया जायेगा समान पात्रता पैटर्न

हाल ही में राज्य सरकार ने राजस्थान में युवाओ को खुश खबरी देते हुए राज्य में 50 हजार सरकारी नौकरियों की घोषणा की थी। मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने यह घोषणा राज्य के वार्षिक बजट पेश के दौरान की गयी। इसके अलावा कहा गया था कि राज्य में समान पात्रता पैटर्न को भी लागु किया जायेगा। राज्य सरकार अब इस पैटर्न को राज्य में लागु करने के लिए विचार कर रही है। कहा जा रहा है कि यह समान पात्रता पैटर्न राज्य में होने वाली पटवारी परीक्षा और नयी ग्राम सेवक भर्ती के साथ लागु किया जा सकता है। इस समान पात्रता पैटर्न को लागु करने की योजना पर विचार करने के कारण है अभी तक सरकार ने पहले टाल दी गयी पटवारी भर्ती परीक्षा के लिए नयी तिथि कि घोषणा नहीं की है और इसके अलावा ग्राम सेवक की भर्ती की घोषणा करने में भी देरी हो रही है।

पिछले कुछ दिन पहले इस विषय को लेकर राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड और कार्मिक विभाग के अधिकारियो के बीच चर्चा हुई थी। सरकार ने कहा था कि इस पैटर्न को आगे वाली भर्तियों के साथ पटवारी भर्ती में भी लागु किया जायेगा और इसके अलावा ग्राम सेवक भर्ती और अन्य मंत्रालयिक कर्मचारी भर्तियों में भी इस पैटर्न को लागु किया जायेगा। इस पैटर्न के लागु हो जाने से राज्य के उम्मीदवारों को समान पात्रता की भर्तियों के लिए अलग अलग आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी। फ़िलहाल अभी मंत्रालयिक कर्मचारियों के लिए विभाग के पास कोई भर्ती नहीं है लेकिन अगर विभाग एलडीसी की भर्ती निकालता है तो इसको दो परीक्षाओ में लागु किया जा सकता है।

हालाँकि सरकार आने वाले कुछ महीनो में ही पटवारी की परीक्षा आयोजित करा सकती है। कहा जा रहा है कि पटवारी की परीक्षा जून या जुलाई में आयोजित की जा सकती है। मई में राजस्थान बोर्ड की परीक्षाओ के होने के कारण अब पटवारी की परीक्षा को और आगे तक टाला जा सकता है। इसके अलावा सरकार राज्य में 2,500 ग्राम सेवको के पदों पर भी भर्ती आयोजित करेगी। हालाँकि विभाग ने इसके लिए पूरी तैयारी कर ली है लेकिन समान पात्रता पैटर्न को लागु करने के लिए चल रहे मंथन को देखते हुए इस भर्ती में देरी हो रही है। जैसे ही विभाग को इसकी आयोजित करने की मंजूरी मिल जाती है, विभाग जल्द ही इसकी घोषणा कर सकता है।

%d bloggers like this: