June 25, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

ओटीटी प्लेटफार्म पर बढ़ रहे अश्लील कंटेंट पर सुप्रीम कोर्ट ने जताई आपत्ति, कहा इन पर भी नियंत्रण जरुरी

supreme court on adult content on ott platforms, वृतांत - Vritaant

हाल ही में अमेज़न प्राइम वीडियो पर रिलीज़ हुई वेब सीरीज रिलीज़ होते ही विवादों में आ गयी और इस पर हिन्दू धर्म का अपमान करने का आरोप लगाया गया है। ऐसे में इस बारे में सुप्रीम कोर्ट में दायर की गयी याचिका की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने ओटीटी प्लेटफार्म पर बढ़ रही अश्लीलता के बारे में भी निर्देश दिए। सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि ओटीटी प्लेटफार्म पर अश्लीलता बहुत ही जयादा बढ़ रही है ऐसे में इस पर नियंत्रण की जरुरत है। कोर्ट ने कहा कि कंटेट के नाम पर ओटीटी प्लेटफार्म पर अश्लीलता दिखाई जा रही है और बहुत ही चिंता का विषय है। इस बात नाराजगी जताते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सभी ओटीटी प्लेटफार्म पर नियंत्रण की बहुत ज्यादा आवश्यकता है क्योकि इससे देश में माहौल ख़राब हो रहा है और बच्चो पर इसका बुरा असर पड़ रहा है।

अमेज़न प्राइम वीडियो पर रिलीज़ की गयी वेब सीरीज के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर है और इसके लिए अगली सुनवाई अब शुक्रवार को होगी। इस वेब सीरीज में हिन्दू धर्म और हिन्दू देवी देवताओ का खुले आम अपमान किया गया है जिससे देश के करोडो लोगो की धार्मिक भावनाओ को ठेस पहुंची और लोग इस वेब सीरीज के प्रति बहुत ही गुस्सा है। ऐसे में लोगो ने मांग की है कि इस पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए लेकिन अभी इस वेब सीरीज पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया है। इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने अब ओटीटी प्लेटफार्म पर दिखाए जा रहे अश्लील कंटेंट के बारे में कड़े शब्दों में निंदा की है और अगली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट इसके बारे में भी कोई सख्त निर्णय ले सकता है।

हाल ही में केंद्र सरकार ने ओटीटी प्लेटफार्म पर सोशल मीडिया के लिए सख्त नियम बनाये है ताकि ओटीटी प्लेटफार्म और सोशल मीडिया पर बढ़ रही अश्लीलता पर नियंत्रण लगाया जा सके। इसके लिए कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा ही कि ओटीटी प्लेटफार्म के लिए बनाये गए नियमो कोर्ट के समक्ष पेश किया जाये जिन्हे कोर्ट देखेगा। इन नियमो में अब सभी ओटीटी प्लेटफार्म पर कंटेंट को फ़िल्टर किया जा सकेगा और फिल्मो की तरह ही कोड में प्रस्तुत करना होगा। इसके अलावा सभी ओटीटी प्लेटफार्म को पेरेंटल लॉक भी सुविधा देनी होगी जिससे माता पिता ऐसे कंटेंट को ब्लॉक कर सके जो बच्चो के देखने लायक नहीं है। इसके अलावा हर कंटेंट को तीन कैटेगरी में रखा जायेगा जिनमे 13+, 16+ और A शामिल होगी।

%%footer%%