June 18, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

बदलने जा रही है पासपोर्ट की सूरत, जानिए क्या खासियत होगी वैक्सीन पासपोर्ट की

Corona effect on passport of India in Hindi, वृतांत - Vritaant

Corona effect on passport of India in Hindi

कोरोना ने दुनिया में कई बड़े बदलाव किये हैं। घर से लेकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक के बदलाव देखे जा चुके हैं। दुनिया के सभी देशों की व्यवस्थाओं में परिवर्तन देखने को मिला है। इन्ही व्यवस्थाओं में एक नया परिवर्तन होने जा रहा है जो विदेशी यात्राओं से जुड़ा है। जी हाँ, अब दुनिया भर में वैक्सीन पासपोर्ट का चलन शुरू होने जा रहा है। इसमें विशेषज्ञों की राय बंटी हुई है।

कुछ का मानना है कि यह ना केवल देशों की अर्थव्यवस्थाओं को मजबूती देगा बल्कि विश्व में कोरोना को प्रभाव को भी काफी हद तक सीमित करेगा। बल्कि कुछ का पक्ष यह भी है कि इससे गरीब देशों के नागरिकों पर फर्क पड़ेगा। चूँकि कई गरीब देश ऐसे हैं जिनके पास अभी कोरोना की वैक्सीन पहुँचने में काफी वक़्त लग सकता है। इसलिए यदि वैक्सीन पासपोर्ट व्यवस्था को लागू किया गया तो गरीब देशों का संपर्क दुनिया से टूट जायेगा और वे इससे बुरी तरह प्रभावित होंगे।

अभी पासपोर्ट की क्या व्यवस्था है?

फ़िलहाल एक देश से किसी अन्य देश में जाने के लिए एक प्रक्रिया के तहत पासपोर्ट प्राप्त किया जाता है। अन्य देश में उस व्यक्ति की पहचान उसकी नागरिकता के आधार पर होती है। ऐसे में वह पासपोर्ट उसकी पहचान का सबसे अहम दस्तावेज होता है। यह विदेशी यात्राओं के लिए एक आधार का कार्य करता है।

क्या होगा वैक्सीन पासपोर्ट?

वैक्सीन पासपोर्ट एक तरह का पासपोर्ट ही होगा जो पासपोर्ट धारक के बारे में कोरोना एवं वैक्सीनेशन से जुड़ी जानकारी देगा। वह उस नागरिक के बारे में कोरोना से संबंधित जानकारी उपलब्ध करवाएगा यथा उसने कोरोना टेस्ट करवाया है या नहीं, या करवाया है तो वह कितनी बार पॉजिटिव आया है एवं उसने वैक्सीन लगवाई है या नहीं तथा वैक्सीन लगवाने के पश्चात् उस नागरिक की कोरोना रिपोर्ट क्या रही है।

क्या यह केवल अवधारणा है या वाकई इसे लागू किया जा रहा है?

आपको बता दें कि इज़रायल देश ने वैक्सीन पासपोर्ट को अनिवार्य कर दिया है। इज़रायल का मानना है कि कोरोना की वजह से वह और अधिक नुक्सान झेलने के मूड में कतई नहीं है। इसके अतिरिक्त यूरोपीय देश इसे जल्द से जल्द लागू करने की तैयारी कर रहे हैं। अमेरिका भी इसे लागू करने के बारे में विचार कर रहा है। भारत में भी बाकि देशों के साथ इसे लागू करने की पूरी संभावना है।

क्यों लागू किया जा रहा है वैक्सीन पासपोर्ट?

ऐसा मानना है कि इससे एक भयमुक्त वातावरण विकसित होगा। विदेशियों एवं पर्यटकों के साथ-साथ जिस देश में इसे लागू किया जा रहा है उस देश के नागरिकों के लिए यह एक सुरक्षा की भावना पैदा करने का कार्य करेगा। जहाँ इसे लागू किया जाएगा वहाँ पासपोर्ट धारी व्यक्ति को इससे बड़ी मदद मिलेगी। वह सभी स्थानों पर इसे दिखाकर आसानी से एंट्री ले पायेगा। इससे सार्वजनिक क्षेत्र सुरक्षित रहेंगे तथा परस्पर भाव फिर से विकसित होंगे।

हालाँकि भारत में यह कब तक लागू होता है इसकी कोई जानकारी नहीं है किन्तु यदि यूरोपीय देश या अमेरिका इसे लागू करते हैं तो भारत को भी अपने नागरिकों के लिए यह व्यवस्था जल्द लागू करनी पड़ेगी। क्योंकि भारतीयों का एक बड़ा हिस्सा अलग-अलग उद्देश्यों के चलते दुनिया के लगभग सभी देशों में लगातार भ्रमण पर रहता है।