August 3, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

इस साल के अंत तक एलोन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स अपनी स्टारलिंक सेवा को शुरू कर देगी

एलोन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स सेटेलाइट इंटरनेट सेवा स्टारलिंक को शुरू करने के लिए तेजी से काम कर रही है। अब कंपनी इस साल के अंत तक अपनी स्टारलिंक सेवा को शुरू करने जा रही है। हाल ही में स्पेसएक्स के मालिक आलम मस्क ने कहा कि उनकी कंपनी इस साल के अंत तक लोगो को स्टारलिंक इंटरनेट सेवा देने जा रही है। यह इंटरनेट सेवा भारत के अलावा उन सभी लोगो के लिए शुरू की जाएगी जो दुनिया में बहुत ही रिमोट एरिया में रहते है। स्पेसएक्स की स्टारलिंक इंटरनेट सेवा को इस साल के अंत तक शुरू कर दिया जायेगा। इस सेवा के जरिए बिना किसी टावर के इंटरनेट सेवा का उपयोग किया जा सकेगा। लोगो को स्टारलिंक सेवा से सीधे सेटेलाइट द्वारा इंटरनेट सेवा प्रदान की जाएगी। एलोन मस्क की कंपनी के अनुसार वह इंटरनेट स्पीड को भी डबल कर देगी जो 300 एमबीपीएस कर दी जाएगी।

फ़िलहाल इस सेटेलाइट इंटरनेट सेवा में कंपनी 50 से 150 एमबीपीएस तक की इंटरनेट स्पीड प्रदान कर रही है। स्टारलिंक सेटेलाइट इंटरनेट सेवा को पूरी तरह से शुरू करने के बाद इसकी इंटरनेट स्पीड को दोगुना कर दिया जायेगा। स्पेसएक्स इस सेटेलाइट ब्रॉडबैंड सेवा को शुरू करने के लिए 12,000 सेटेलाइट्स का उपयोग करेगी जिनकी मदद से लोगो तक इंटरनेट सेवा पहुंचाई जाएगी। फ़िलहाल कंपनी ने अब तक 1200 सेटेलाइट ऑर्बिट में लगा दिए है। इस सेवा को इस साल के अंत तक शुरू करने की खबर का पता ट्विटर पर पूछे गए एक सवाल से पता चला। जिसमे एलोन मस्क से इस सेवा के शुरू होने के बारे में पूछा गया जिसका जवाब देते हुए एलोन मस्क ने कहा कि यह सेवा इस साल के अंत तक शुरू कर दी जाएगी।

इस सेवा का इस्तेमाल किसी भी जगह पर किया जा सकेगा यानि इस सेवा के जरिए कही पर भी इंटरनेट सेवा का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इस सेवा को चलते हुए या गाड़ी में चलते हुए एक जगह से दूसरी जगह पर उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा एलोन मस्क ने कहा कि कंपनी और भी सेटेलाइट लॉन्च करने जा रही है जिससे इस सेवा के लिए कवरेज बेहतर मिलेगा। यानि आने वाले समय में स्पेसएक्स अंतरिक्ष में अपने सेटेलाइट की संख्या को  बढ़ाएगी जिसके बाद सेटेलाइट इंटरनेट सेवा को और भी सुगम बनाया जायेगा। इस सेवा का सबसे बड़ा फायदा उन लोगो को होगा जिनके पास इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध नहीं है और न ही उनके पास इंटरनेट टावर लगे हुए है। इस सेवा के भारत में शुरू होने के बाद इंटरनेट को सभी इलाको में पहुंचाया जा सकेगा।

%d bloggers like this: