August 3, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

श्री दुर्गा बत्तीस नामावली: जो आपको बनाते है अभयदानी और शांत, नवरात्र में विशेष फलदायी

navratri maa

नवरात्र में मां दुर्गा की पूजा फलदायी होती है और अगर श्री दुर्गा बत्तीस नामावली का जाप क‍िया जाए तो मां से मांगी हर मुराद पूरी होती है।  मां भगवती ने अपने ही बत्तीस नामों की माला के एक अद्भुत गोपनीय रहस्यमय किंतु चमत्कारी जप का उपदेश दिया जिसके करने से घोर से घोर विपत्ति, राज्यभय या दारुण विपत्ति से ग्रस्त मनुष्य भी भयमुक्त एवं सुखी हो जाता है।

नवरात्र में यदि आप घटस्थापना, व्रत आदि ना कर सकें या किसी कारण से नहीं कर पा रहें हो तो ऐसे में आप माँ दुर्गा के ३२ नामों को जाप सुबह सवेरे, साफ सफाई का ध्यान रखते हुए करते है तो ये आपके जीवन में अनेक सुखों को प्रदान करती है।

महिषासुर दानव के वध से प्रसन्न और निर्भय हो गए त्रिदेवों सहित देवताओं ने प्रसन्न भगवती से ऐसे किसी अमोघ उपाय की याचना की, जो सरल हो और कठिन से कठिन विपत्ति से छुड़ाने वाला हो। तब मां ने श्री दुर्गा  बत्तीस नामवली का राज द‍िया था। माना जाता है कि जो भी दिल से एकाग्रिचित होकर इस नामवाली का मनन करता है, वह इस सांसारिक जीवन में आध्यात्‍मि‍क सुख की प्राप्ति करता है।

मां दुर्गा के 32 नाम

ॐ दुर्गा,
दुर्गतिशमनी,
दुर्गाद्विनिवारिणी,
दुर्गमच्छेदनी,
दुर्गसाधिनी,
दुर्गनाशिनी,
दुर्गतोद्धारिणी,दुर्गनिहन्त्री
दुर्गमापहा,दुर्गमज्ञानदा,
दुर्गदैत्यलोकदवानला,
दुर्गमा,
दुर्गमालोका,
दुर्गमात्मस्वरुपिणी,
दुर्गमार्गप्रदा,
दुर्गम विद्या,
दुर्गमाश्रिता,
दुर्गमज्ञान संस्थाना,
दुर्गमध्यान भासिनी,दुर्गमोहा, दुर्गमगा,
दुर्गमार्थस्वरुपिणी,
दुर्गमासुर संहंत्रि,
दुर्गमायुध धारिणी,
दुर्गमांगी,
दुर्गमता,
दुर्गम्या,
दुर्गमेश्वरी,
दुर्गभीमा,
दुर्गभामा,दुर्गमो,
दुर्गोद्धारिणी।
%d bloggers like this: