August 3, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

लॉक डाउन के बाद फिर काम करने वाले मजदुर अपने घरो को लौटने लगे, बस स्टैंड और रेलवे स्टेशनो पर लगी भीड़

देश कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप तेजी से बढ़ता जा रहा है और ऐसे में में कई राज्यों में सरकार ने एक से दो हफ्तों के लिए पूरी तरह से लॉक डाउन लगा दिया है। इसका सबसे बुरा असर मजदुर वर्ग पर पड़ा है क्योकि उनके वे काम करने लिए लिए दूसरे राज्य से आये है और काम बंद हो जाने से अब वे अपने घरो को लौटने को मजबूर हो गए है। देश की राजधानी दिल्ली में 26 अप्रैल तक लिए पूर्ण लॉक डाउन लगा दिया गया है जिसके बाद राजधानी के बस स्टैंडो और रेलवे स्टेशनो पर लोगो की भीड़ उमड़ गयी। इस भीड़ में सबसे अधिक संख्या में काम करने वाले मजदुर और दूसरे राज्यों पढ़ने आये छात्र शामिल थे। इनमे में से ज्यादातर उत्तर प्रदेश, बिहार और अन्य राज्यों के लोग शामिल थे। लॉक डाउन की घोषणा के बाद लोगो में अपने घर जाने की होड़ मच गयी और लोग भारी संख्या में बस स्टैंड और रेलवे स्टेशनो पर आ गए।

हालाँकि सरकार ने ट्रेनों और बसों को बंद नहीं किया है फिर भी लोगो की भीड़ बहुत ही ज्यादा बढ़ गयी। ट्रेनों में केवल टिकट के रिजर्वेशन वाले ही जा सकते है ऐसे में लोगो को टिकट नहीं मिलने पर वे बस स्टैंड की तरफ भागने लगे। इसके अलावा बहुत अधिक संख्या में लोग सड़को के किनारे बसों का इंतजार करते हुए भी नजर आये। लोग अपने सामान के साथ सड़को पर बैठे देखे जा सकते थे ताकि वे अपने अपने घरो को वापस जा सके। हालाँकि दिल्ली में केवल एक हफ्ते तक लके लिए ही लॉक डाउन लगाया गया है लेकिन लोगो के मन में डर है कि सरकार लॉक डाउन बढ़ा सकती है और उनका काम कई दिनों तक बंद रह सकता है। ऐसे में लोग अपनी कमाई के पैसो से गाजर नहीं कर पाएंगे इसलिए लोग अपने घरो को जाने लगे है।

इसके अलावा राजस्थान में भी सरकार ने 3 मई तक के लिए राज्य में लॉक डाउन ला दिया है लेकिन राजस्थान में फैक्ट्रियो और कंस्ट्रक्शन वर्क को बंद नहीं किया गया है जिसके कारण राज्य में काम करने वाले मजदूरों को अपने घरो को जाने की जरुरत नहीं पड़ रही है। राज्य में मजदूरों का काम चालू रखा गया है जिसके कारण उन्हें बेरोजगारी का सामना नहीं करना पड़ रहा है। राजस्थान में सोमवार को भी 11 हजार से ज्यादा नए कोरोना रोगी सामने आये है और 50 से अधिक मौते भी हुई है। ऐसे में अब सरकार ने 1 मई से देश में 18 साल से अधिक आयु के लोगो को कोरोना की वैक्सीन लगाने की मंजूरी दे दी है। अब देश में 18 साल से अधिक आयु के लोगो का भी टीकाकरण शुरू किया जायेगा ताकि कोरोना संक्रमण को कम किया जा सके।

%d bloggers like this: