August 3, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

ऑक्सीजन की कमी के चलते अधिक जाने ले रहा है कोरोना, कई जगहों पर अस्पतालों में ऑक्सीजन की सप्लाई रुकी

देश में कोरोना की दूसरी लहर प्रचंड रूप से फ़ैल रही है और कोरोना का यह स्ट्रेन पहले से कई ज्यादा जानलेवा हो रहा है। ऐसे में अब देश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के चलते कोरोना अधिक संख्या में लोगो की जान ले रहा है। कोरोना का यह स्ट्रेन मरीजों के फेफड़ो पर सीधा हमला कर रहा है जिसके कारण कोरोना संक्रमित रोगियों के फेफड़े बहुत कम समय में खराब हो रहे है। इसके चलते मरीजों को साँस लेने में तकलीफ हो रही है और उन्हें ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है। ऐसे में अब देश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की मांग एक साथ कई गुना बढ़ गयी है जिसके कारण अब अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी आने लगी है। देश में ऑक्सीजन की कमी के चलते अब ऑक्सीजन सिलेंडरो की कालाबाजारी बढ़ गयी है और लोग कई गुना अधिक पैसे देकर ऑक्सीजन कैलेंडर खरीद रहे है।

राजस्थान में भी बुधवार को 15 हजार से भी अधिक नए कोरोना के मरीज मिले है और प्रदेश में मौतों की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। प्रदेश में मंगलवार को 64 लोगो की कोरोना के कारण मृत्यु हो गयी। राजस्थान के अस्पातलो में भी ऑक्सीजन की कमी के चलते हालात ख़राब हो गए है। जिसके कारण कई मरीजों को समय पर ऑक्सीजन नहीं मिल पाने पर उनकी मृत्यु हो गयी। राजस्थान के कोटा में एक कोरोना अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई को रोक दिया गया जिसके कारण वहा पर दो कोरोना मरीजों की मौत हो गयी। देश में ऑक्सीजन का के कुल उत्पादन का केवल 15 प्रतिशत है अस्पतालों में दिया जाता है जबकि शेष 85 प्रतिशत ऑक्सीजन को इंडस्ट्रियों को दिया जाता है।

उद्योगों के अधिक ऑक्सीजन दिए जाने के कारण अब देश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी हो गयी है जिसके कारण कोरोना मरीजों की जान बचा पाना मुश्किल हो गया है। ऐसे में सरकार को इस स्थिति में यह करना चाहिए कि उद्योगों को दी जाने वाली ऑक्सीजन को रोक दिया जाना चाहिए और देश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की सप्लाई को बढ़ाना चाहिए ताकि लोगो का कोरोना का इलाज करने में मदद मिले और अधिक से अधिक मरीजों की जान बचायी जा सके।

%d bloggers like this: