June 17, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

राजस्थान में वापस लॉक डाउन लगाने के लिए मुख्य मंत्री ने किया इनकार, लेकिन राज्य में सख्ती बढ़ाई जाएगी

rajasthan cm refuse to impose lockdown, वृतांत - Vritaant

देश में कोरोना की दूसरी लहर कई गुना तेजी से फैल रही है और ऐसे में कोरोना के कारण मरने वालो की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। राजस्थान में भी कोरोना बहुत ही तेजी से फिर से फैलने लगा है और हर रोज़ हजारो की संख्या में नए कोरोना मामले आ रहे है। इसके अलावा राज्य में कोरोना वायरस से मौतों की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। ऐसे में सरकार ने इस कोरोना वायरस को राज्य में फैलने से रोकने के लिए सख्त कदम उठाना शुरू कर दिया। रोज़ कोरोना की स्थिति को देखते हुए सरकार राज्य में सख्ती बढ़ा रही है। हाल ही में राज्य के जयपुर सहित कई जिलों में स्कूलों और कोचिंग संस्थानों को फिर से बंद कर दिया गया है। इसके अलावा राज्य में सिनेमा घरो, पार्को, जिम और स्वीमिंग पूलो को बंद कर दिया गया। दिन प्रतिदिन लिए जा रहे सख्त फैसलों लग रहा है कि सरकार राज्य में फिर से लॉक डाउन लगाने की तैयारी कर रही है। लेकिन हाल ही में राजस्थान के मुख्य मंत्री अशोक गहलोत ने राज्य में फिर से लॉक डाउन लगाने से इनकार कर दिया है।

इसके अलावा मुख्य मंत्री ने कहा कि राज्य में लॉक डाउन की जगह सख्ती अधिक की जाएगी। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन लगाने से आम आदमी की आजीविका बंद हो जाएगी जिसको बंद नहीं किया जा सकता है और आजीविका चलती रहनी चाहिए। लेकिन सख्ती को और बढ़ाया जायेगा। राज्य में शादी समारोहों में शामिल होने वाले लोगो की संख्या में और कमी की जाएगी। इससे पहले राज्य में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस को देखते हुए लग रहा था कि सरकार फिर से सम्पूर्ण लॉक डाउन लगा सकती है। लेकिन मुख्य मंत्री ने साफ कर दिया है कि सरकार राज्य में फिर से लॉक डाउन नहीं लगाएगी।

राज्य में कोरोना की तेजी से फैल रही दूसरी लहर में मरने वाले लोगो में गावो के लोगो की संख्या बढ़ी है। इस बार कोरोना वायरस से मरने वालो में 30 प्रतिशत लोग गावो से है जो पिछली बार से बहुत ही ज्यादा है। देश में तेजी से फिर से बढे कोरोना वायरस के बारे में विशषज्ञों का कहना है कि अभी यह भी पता नहीं कि यह किस तरह का स्ट्रेन जो इतना तेजी से फैला है और यह बहुत ही चिंता की बात है। फ़िलहाल राजस्थान में सरकार ने शादी समाराहों में शामिल होने वाले लोगो की अधिकतम संख्या 100 निर्धारित की है लेकिन अब आने वाले दिनों में यह सख्या घटाई जा सकती है और 50 लोगो को शादी समारोहों में शामिल होने की अनुमति दी जा सकती है।