August 3, 2021

वृतांत – Vritaant

खबर, संवाद और साहित्य

जानिए आखिर ग्लास्टिक मैटेरियल क्या होता है और यह मोबाइल फ़ोन के निर्माण में सबसे ज्यादा क्यों उपयोग में लिया जा रहा है ?

मोबाइल फ़ोन हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है और हम आज हर काम को अपने मोबाइल फ़ोन से ही कर पाते है। लेकिन ये बहुत सी कम्पनिया अलग अलग तरह के मोबाइल फ़ोन बनाती है जो अलग अलग मैटेरियल से बने हुए है। हम कई स्मार्टफोन्स में मेटल बॉडी देखते है, कई स्मार्टफोन में ग्लास मैटेरियल देखते है और कई स्मार्टफोन में एक नया मैटेरियल ग्लास्टिक देखते है। इसके अलावा कई स्मार्टफोन में प्लास्टिक के बने हुए मिलते है। जानिए आखिर ग्लास्टिक मैटेरियल क्या होता है और यह मोबाइल फ़ोन के निर्माण में सबसे ज्यादा क्यों उपयोग में लिया जा रहा है ?

बात की जाये तो एक नया पदार्थ सामने आया है जिसे ग्लास्टिक बोला जा रहा है। यानि यह एक ऐसा प्लास्टिक है जो फ़ोन को ग्लास जैसा लुक प्रदान करता है। इसके कारण हमे फ़ोन ग्लास का बना हुआ प्रतीत होता है जबकि यह एक प्रकार का प्लास्टिक मैटेरियल होता है। आखिर कहा जाये जो ग्लास्टिक और पॉली कार्बोनेट ये एक ही है। इस मैटेरियल को फ़ोन में इसलिए काम में लिया जाता है क्योकि इससे फ़ोन बनाना बहुत ही आसान हो जाता है। इसके अलावा इसे आसानी से किसी भी शेप में ढाला जा सकता है क्योकि यह बहुत ही पतला और फ्लेक्सिबल होता है और साथ ही साथ बहुत ही ज्यादा हल्का भी होता है। यह ग्लास्टिक मैटेरियल हमे सबसे ज्यादा बजट स्मार्टफोन्स में ज्यादा देखने को मिलता है क्योकि इसे किसी भी तरह ग्लॉसी फिनिश और डिज़ाइन में बनाया जा सकता है। इसलिए ग्लास्टिक का उपयोग करके स्मार्टफोन निर्माता कम्पनिया किसी भी फ़ोन को बेहतर लुक दे सकती है जबकि दूसरे किसी मैटेरियल से ऐसा कर पाना मुश्किल होता है।

हालाँकि इस मैटेरियल के कुछ नुकसान भी है क्योकि इसमें स्क्रैचेस बहुत जल्दी आ जाते है और अगर किसी फ़ोन में ज्यादा प्लास्टिक का उपयोग किया जाता है तो वह ज्यादा मजबूत नहीं बन पता है। लेकिन अच्छी बात यह है कि कम्पनिया केवल फ़ोन के पीछे का हिस्सा ही ग्लास्टिक से बनाती है और पूरी तरह से फ़ोन को मजबूत बनावट प्रदान करती है। इसके अलावा प्लास्टिक में हमे नेटवर्क कवरेज भी बेहतर देखने को मिलता है। लेकिन प्लास्टिक अचालक होने के कारण यह फ़ोन की गर्मी को बाहर नहीं कर पाटा है। हालाँकि अब कम्पनिया इस पर तेजी से काम कर रही है और ग्लास्टिक में हमे और बेहतर क्वालिटी देखने को मिल रही है। कुल मिलाकर बात की जाये तो अब कम्पनिया गिलास से ज्यादा फ़ोन में प्लास्टिक बॉडी पर ज्यादा ध्यान दे रही है।

%d bloggers like this: